Rashi Aur Nidaan

--Advertisement--

13 JUNE : बुधवार को बन रहे हैं शुभ योग, सुबह उठते ही 10 मंत्र बोलना न भूलें

मान्यता है कि अमावस्या पर किए गए उपाय जल्दी सफल होते हैं। इसीलिए इस दिन विशेष पूजा-पाठ किए जाते हैं।

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2018, 04:15 PM IST
amawasya ke upay, amawasya on 13 june, ganeshji ke upay

रिलिजन डेस्क। 13 जून, बुधवार को अमावस्या तिथि के साथ ही सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है। ये योग सुबह सूर्योदय से सूर्यास्त तक रहेगा। सर्वार्थ सिद्धि योग में किए गए काम सिद्ध होते हैं, पूजा-पाठ सफल होती है। अमावस्या पर ये योग बनने से बुधवार बहुत ही खास हो गया है। उज्जैन की एस्ट्रोलॉजर डॉ. विनिता नागर के अनुसार बुधवार गणेशजी की पूजा के लिए और अमावस्या पितर देवता की पूजा के लिए विशेष दिन है। इस दिन कौन-कौन से उपाय किए जा सकते हैं, जानिए...

बुधवार और अमावस्या के योग में करें प्रथम पूज्य गणेशजी की पूजा

> 13 जून को सुबह जल्दी उठें और स्नान आदि कामों के बाद साफ वस्त्र धारण करें। भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापित करें।

> प्रतिमा को पवित्र जल से स्नान कराएं। इसके बाद सिंदूर, पीला चंदन, पीले फूल, अक्षत, जनेऊ, पीला रेशमी वस्त्र, दूर्वा और लड्डू का प्रसाद अर्पित करें।

> श्रीगणेश की पूजन-आरती करें। गणेश मंत्र (ऊँ गं गणपतयै नम:) बोलते हुए 21 दूर्वा दल चढ़ाएं।

> पूजा में भगवान श्री गणेश स्त्रोत, अथर्वशीर्ष, संकटनाशक स्त्रोत आदि का पाठ करें।

इन 10 मंत्रों का भी जाप 108 बार करें...

ऊँ गणाधिपाय नम:, ऊँ उमापुत्राय नम:, ऊँ विघ्ननाशनाय नम:, ऊँ विनायकाय नम:, ऊँ ईशपुत्राय नम:, ऊँ सर्वसिद्धप्रदाय नम:, ऊँ एकदन्ताय नम:, ऊँ इभवक्त्राय नम:, ऊँ मूषकवाहनाय नम:, ऊँ कुमारगुरवे नम:

इस तरह अमावस्या और बुधवार के योग में गणेश पूजन करने से भगवान अति प्रसन्न होते हैं और भक्त की सभी परेशानियां दूर हो सकती हैं, अगर कुंडली में दोष हों तो उनका बुरा असर खत्म हो सकता है।

X
amawasya ke upay, amawasya on 13 june, ganeshji ke upay

Related Stories

Click to listen..