प्रसव के लिए सहारा बन रही 102 की एम्बुलेंस सेवा

Buxar News - सदर अस्पताल में एंबुलेंस सेवा की बदहाली को लेकर अक्सर हंगामा होते रहता है। लेकिन, इस विपदा की घड़ी में विशेषकर...

Mar 27, 2020, 06:46 AM IST
Buxar News - ambulance service of 102 becoming support for delivery

सदर अस्पताल में एंबुलेंस सेवा की बदहाली को लेकर अक्सर हंगामा होते रहता है। लेकिन, इस विपदा की घड़ी में विशेषकर प्रसव पीड़िताअाें के लिए यह सहारा बने हुए है। विशेष कर रात के समय में यह अपनी बेहतर सेवा दे रहे हैं। रात के समय दो से तीन बार एंबुलेंस मरीजों को लाने के लिए जा रही है। इस आशय की जानकारी अस्पताल प्रबंधक दुष्यंत सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि दिन के समय में मरीज बाइक या अन्य किसी साधन से अस्पताल में आ जा रहे हैं। मरीज किसी भी वाहन में आ रहे हैं। उसके लिए कोई रोकटोक नहीं है। लेकिन, रात के समय में प्रसव पीड़ित को बाइक पर लाना संभव नहीं है। इसलिए अभी एएनएम व आशा कार्यकर्ताओं को सख्त चेतावनी दी गई है। जिन महिलाओं का प्रसव होने वाला है। उसकी एक लिस्ट तैयार कर ले। शाम के समय में फोन पर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ले ले। परिजनों को 102 एंबुलेंस सेवा के बारे में बता दे। साथ ही यदि देर रात कभी भी प्रसूता के परिजन फोन करें। तब उन्हें 102 की सहायता से अस्पताल लेकर आए। इस कार्य मे जरा भी लापरवाही नहीं करे। वहीं एंबुलेंस चालकों ने बताया कि पहले की अपेक्षा अब ड्यूटी बढ़ गई है। स्टाफ की संख्या कम है। परंतु इस वक्त अधिक से अधिक सेवा देने में जुटे हैं। फोन आते ही बिना बिलंब किए निकल पड़ते हैं। रात के समय एंबुलेंस में सभी स्टाफ रहते हैं। विदित हो कि हर दिन सदर अस्पताल में औसतन सात से आठ प्रसव केस आ रहा है। एंबुलेंस सेवा के संबंध में सिविल सर्जन डॉ. उषा किरन वर्मा ने बताया कि एंबुलेंस सेवा दे रही एजेंसी को सख्त हिदायत दी गई है कि लॉक डाउन के दौरान अपनी बेहतर सेवा दे। यदि जरूरत पड़े तब अधिक स्टाफ रखे। मरीजों को किसी भी तरह की परेशानी नहीं होनी चाहिए।

एंबुलेंस की तस्वीर।

X
Buxar News - ambulance service of 102 becoming support for delivery

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना