ब्रेकिंग न्यूज़

  • Hindi News
  • Breaking News
  • अमेरिका : पुलिस गोलीबारी में मारे गए अफ्रीकी मूल के शख्स के लिए मार्च
--Advertisement--

अमेरिका : पुलिस गोलीबारी में मारे गए अफ्रीकी मूल के शख्स के लिए मार्च

अमेरिका : पुलिस गोलीबारी में मारे गए अफ्रीकी मूल के शख्स के लिए मार्च

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 05:00 PM IST
अमेरिका : पुलिस गोलीबारी में मारे गए अफ्रीकी मूल के शख्स के लिए मार्च

समाचार एजेंसी 'एफे' के अनुसार, मार्च का आयोजन कैलिफोर्निया की राजधानी सैक्रामेंटो में हुआ।
यह मार्च पूर्व एनबीए बास्केटबॉल खिलाड़ी मैट बार्नेस के नेतृत्व में हुआ, जिन्होंने गुरुवार को स्टीफन क्लार्क के ताबूत को कंधा दिया और डीमार्कस कजिंस के साथ उनके अंतिम संस्कार में शामिल हुए थे। यह दोनों स्थानीय सैक्रामेंटो किंग्स टीम के पूर्व खिलाड़ी रह चुके हैं।
बार्नेस ने कहा, ""वे हमें लगातार मार रहे हैं और यह हम में से कोई भी हो सकता है। आपकी त्वचा का रंग काला होने का मतलब है कि आप दोषी हैं।""
उन्होंने कहा, ""सच्चाई यह है कि यहां बहुत भेदभाव है, जिसे हम समझ नहीं पा रहे हैं। हम नहीं सुनते हैं और जो हम नहीं जानते हैं, हम उससे डरते हैं। हम पुलिस को नहीं जानते और इसलिए हम उनसे डरते हैं। वे हमें नहीं जानते और इसलिए वे हमसे डरते हैं।""
उन्होंने अफ्रीकी मूल के अमेरिकी समुदाय को आमंत्रित किया कि वह पुलिस के साथ मिलकर अधिकारियों से आग्रह करे कि वे 'अपनी गश्ती वाली कारों से बाहर निकलें' और निवासियों को जानने के लिए अपने आसपास के इलाकों में पैदल चलना शुरू करें।
अपने बाहों में क्लार्क के दोनों बच्चों को उठाए पूर्व बास्केटबॉल खिलाड़ी ने उन बच्चों की कॉलेज शिक्षा के लिए भुगतान करने के लिए एक कोष बनाने की प्रतिबद्धता जताई।
क्लार्क के परिवार ने प्रदर्शनकारियों के समूह से भी बात की और उनके लिए न्याय की मांग की, जो मात्र 22 वर्ष के थे, जब 18 मार्च को उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई।
दो पुलिसकर्मियों -टेरेंस मर्काडल और जेयर्ड रॉबिनेट- ने अपनी दादी के घर के पिछवाड़े खड़े क्लार्क पर 20 गोलियां दागी थी, क्योंकि उन्हें लगा कि वह बंदूक पकड़े हैं और इससे कोई खतरा हो सकता है। लेकिन बाद में उनके शव के पास केवल सेलफोन बरामद हुआ था।
--आईएएनएस
X
Click to listen..