OMG

--Advertisement--

एक्सपर्ट्स का दावा- अब से 10 साल बाद दुनिया के कुछ देशों में तबाही मचा सकता ये उल्का पिंडा, एक शहर के बराबर है इसका साइज

धरती के करीब से गुजरेगा, आशंका है कि कहीं पृथ्वी की ग्रैविटी अपनी ओर न खींच ले

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 11:16 AM IST

अमेरिका. आज से करीब दस साल बाद एक शहर बराबर उल्का पिंड पृथ्वी से टकराएगा। इसके टकराते ही कई देश तबाह हो जाएंगे। एक झटके में करोड़ों लोगों की मौत हो जाएगी। ये दावा है कुछ एक्सपर्ट्स का। इनके मुताबिक, धीरे-धीरे उल्का पिंड पृथ्वी के करीब आ रहे हैं और अब वो दिन दूर नहीं जब ये पृथ्वी पर गिरने लगेंगे। यहीं से प्रलय की शुरुआत होगी।

- 2016 में पृथ्वी के करीब से एक्सएफ11 नाम का एस्टेरोइड (उल्का पिंड) 2.5 करोड़ किलोमीटर की दूरी से निकला था। जिसके बाद पता चला कि इसका अगला चक्कर 10 साल बाद फिर पूरा होगा और ये पृथ्वी से महज 9 लाख किलोमीटर की दूरी से गुजरेगा। इसमें चिंता की बात यह है कि इसका ऑरिबट तय नहीं होगा और ये किसी भी दिशा में भटक सकता है। इससे पृथ्वी को खतरा है।

2.5 किलोमीटर होगी लंबाई

- ये उल्का पिंड करीब ढाई किलोमीटर लंबा होगा, जो एक छोटे शहर के बराबर है। इतना बड़ा उल्का पिंड आसानी से लंदन, न्यूयॉर्क जैसे शहर या किसी छोटे देश को सेकंड्स में तबाह कर सकता है।

इस वजह से हो सकती है टक्कर

- 1997 में जब पहली बार इस उल्का पिंड को खोजा गया था, तब साइंटिस्ट्स ने दावा किया था कि ये पृथ्वी के बेहद करीब से गुजर सकता है। ये दूरी 4 लाख किलोमीटर से भी कम हो सकती है। अगर ये इतनी कम दूरी से गुजरता है, तो पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण इसे अपनी ओर खींच लेगा और ये सीधे उसपर आ गिरेगा। ऐसे में भविष्य में ऐसी घटना होने के दावे को बल मिलता है।

कुछ छिपा रही है नासा?

- साइंटिस्ट्स के इन दावों पर स्पेस एजेंसी नासा ने लंबे समय तक कुछ नहीं कहा। हालांकि, लोगों का डर कम करने के लिए नासा ने कहा है कि ये उल्का पिंड बिना किसी गड़बड़ी के पृथ्वी के करीब से गुजर सकता है। इस आधिकारिक बयान में कहा गया है, 'अक्टूबर 2028 में एक्सएफ11 नाम का एस्टेरोइड पृथ्वी के करीब से गुजरेगा लेकिन इससे हमें नुकसान नहीं होगा'। हालांकि, इन सब बातों से सवाल ये उठता है कि क्या नासा हमसे कुछ छिपा रही है?