--Advertisement--

ज्योतिष : शनि के दोषों से बचना चाहते हैं तो 4 गलतियों से बचें, किसी गरीब का अपमान न करें

घर की सुख-शांति के लिए शनिवार को क्या करें और क्या न करें

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 04:01 PM IST
शनिदेव को मनाने के लिए हर शनिव शनिदेव को मनाने के लिए हर शनिव

रिलिजन डेस्क. शनिदेव को मनाने के लिए हर शनिवार विशेष उपाय किए जाते हैं। ज्योतिष में शनि को न्यायाधीश माना गया है और ये ग्रह ही हमारे कर्मों का फल प्रदान करता है। जिन लोगों के कर्म गलत होते हैं, उनके लिए शनि अशुभ हो जाता है। शनि के अशुभ होने से किसी भी काम में आसानी से सफलता नहीं मिल पाती है, साथ ही घर-परिवार में परेशानियां बढ़ जाती हैं। उज्जैन के इंद्रेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी और ज्योतिर्विद पं. सुनील नागर के अनुसार शनिवार को ऐसे कामों से बचना चाहिए, जिनसे कुंडली में शनि अशुभ हो सकता है। घर में अशांति और दुख बढ़ सकते हैं। कभी भी गरीब व्यक्ति को नहीं सताना चाहिए इससे शनिदेव नाराज हो सकते हैं। जानिए शनिवार को कौन-कौन से काम नहीं करना चाहिए...
पहला काम : कभी भी किसी गरीब का अपमान न करें। शनिदेव गरीबों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इस कारण जो लोग गरीबों का अपमान करते हैं या उन्हे परेशान करते हैं, शनिदेव उन पर कृपा नहीं करते।
दूसरा काम : शनिवार को घर में लोहा या लोहे से बनी चीज लेकर नहीं आना चाहिए। इस दिन लोहे की चीजों का दान करना चाहिए।
तीसरा काम : शनि को मनाने के लिए शनिवार को तेल का दान करना चाहिए। इन दिन तेल घर में लेकर नहीं आना चाहिए।
चौथा काम : ध्यान रखें किसी बाहरी व्यक्ति से जूते-चप्पल उपहार में न लें। शनिवार को जूते-चप्पल का दान किसी गरीब को करेंगे तो शनि के दोष दूर हो सकते हैं।
क्या करें?
- शनिवार को पीपल की पूजा करनी चाहिए। पूजा के बाद सात परिक्रमा करें।
- शनिदेव के लिए काले तिल का दान करें।
- हनुमानजी के मंदिर में सरसों के तेल का दीपक जलाएं।

न्याय के देवता हैं शनिदेव

- ब्रह्मवैवर्त पुराण में शनिदेव ने पार्वती माता को बताया है कि मैं सौ जन्मों तक जातक की करनी का फ़ल भुगतान करता हूँ।
- विष्णु पुराण के अनुसार लक्ष्मी मां ने शनि से पूछा कि तुम लोगों को प्रताडित क्यों रहते हैं, तो शनि महाराज ने उत्तर दिया कि परमात्मा ने मुझे तीनो लोकों का न्यायाधीश नियुक्त किया हुआ है।

- इसीलिए जो भी तीनो लोकों के अंदर अन्याय करता है, उसे दंड देना मेरा काम है।