विज्ञापन

ज्योतिष- ऐसे लोग जीवनभर नहीं बन पाते हैं अमीर, ये हैं अशुभ संकेत

Dainik Bhaskar

Apr 21, 2018, 05:18 PM IST

कुंडली में ग्रहों की स्थिति से ये मालूम हो सकता है कि व्यक्ति अमीर बनेगा या नहीं।

astro tips in hindi, ज्योतिष- ऐसे लोग जीवनभर नहीं बन पाते हैं अमीर, ये हैं अशुभ संकेत
  • comment

रिलिजन डेस्क। ज्योतिष में शनि और चंद्र का एक ऐसा योग बताया गया है, जिसकी वजह से व्यक्ति को धन संबंधी कामों में आसानी से सफलता नहीं मिल पाती है। साथ ही, जीवन में परेशानियां बनी रहती हैं। ये योग है विष योग। जिन लोगों की कुंडली में विष योग होता है, वे आसानी से सफलता प्राप्त नहीं कर पाते हैं। अगर ये योग किसी अशुभ भाव में बनता है तो व्यक्ति जीवनभर अमीर नहीं बन पाता है।

यहां जानिए कोलकाता की एस्ट्रोलॉजर डॉ. दीक्षा राठी के अनुसार कुंडली के किस भाव में विष योग का कैसा असर होता है।

- यदि कुंडली के पहले भाव में चंद्र-शनि का योग हो तो व्यक्ति को हमेशा अशुभ फल ही मिलते हैं। अगर कुंडली में कोई और शुभ योग न हो तो व्यक्ति आजीवन गरीब बना रहता है।

- दूसरे भाव में चंद्र-शनि का योग होने से कभी-कभी व्यक्ति को शुभ फल भी मिलता है।

- तीसरे भाव में ये योग होने से घर में चोरी होने के योग बन सकते हैं। ऐसे में केतु का विशेष उपाय करना चाहिए।

- चोथे भाव में ये योग शुभ फल देता है।

- पंचम भाव में विष योग होने पर संतान के लिए शुभ नहीं होता है।

- षष्ठम भाव में चंद्र-शनि एक साथ होते हैं तो रिश्तेदारी की वजह से धन हानि हो सकती है।

- सप्तम भाव में ये योग हो तो व्यक्ति को आंखों से संबंधित कोई बीमारी हो सकती है।

- अष्टम भाव में विष योग होने पर व्यक्ति को सांप से सावधान रहना चाहिए।

- नवम भाव में ये योग होने से व्यक्ति को शुभ-अशुभ दोनों तरह के फल मिलते हैं।

- दशम या एकादश भाव में विष योग अशुभ फल देता है। अगर व्यक्ति धनी घर में पैदा होता है और उसकी कुंडली के दशम या एकादश भाव में विष योग है तो उसे भी पैसों की कमी का सामना करना पड़ता है।

- द्वादश भाव में विष योग होने पर व्यक्ति धन के मामले में लालची नहीं होता है।

X
astro tips in hindi, ज्योतिष- ऐसे लोग जीवनभर नहीं बन पाते हैं अमीर, ये हैं अशुभ संकेत
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें