Hindi News »Lifestyle »Health And Beauty» Atal Bihari Vajpayee Admitted To AIIMS With Kidney Issues

पिछले 34 साल से एक किडनी पर जिंदा हैं 'अटल'

93 साल के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी पिछले दो दिनों से एम्स में भर्ती हैं...

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jun 12, 2018, 11:43 AM IST

पिछले 34 साल से एक किडनी पर जिंदा हैं 'अटल'

हेल्थ डेस्क। 93 साल के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी पिछले दो दिनों से एम्स में भर्ती हैं। उन्हें रूटीन हेल्थचेकअप के लिए यहां लाया गया है और उनकी कंडीशन अभी स्थिर है। अटल जी को यूरिन इंफेक्शन के साथ ही किडनी से संबंधित प्रॉब्लम है।

1984 से एक किडनी पर जिंदा हैं वाजपेयी
अटल बिहारी वाजपेयी 1984 से एक किडनी पर जिंदा हैं। 2007 में उन्होंने दिल्ली में एक किडनी हॉस्पिटल की नींव रखते हुए कहा था कि किसी को भी किडनी देने से डरना नहीं चाहिए। मैं आपके सामने बैठा हूं। मैं कई साल पहले अपनी किडनी दे चुका हूं। यहां आपके सामने एकदम स्वस्थ बैठा हूं। उनका मानना है कि किसी की जिंदगी बचाना, उसे जिंदगी देने के बराबर ही है। आज हम बता रहे हैं ऐसे 7 संकेतों के बारे में, जो किडनी के खराब होने का संकेत देते हैं।

कौन से हैं वे 7 संकेत

स्किन रेशेज
जब आपकी किडनी को खतरा होता है तो आपकी बॉडी पर रेशेज या चकत्ते आने लगते हैं। ये चकत्ते दवाई लगाने से भी ठीक नहीं होते।

मुंह में अजीब टेस्ट आना
अगर आपको मुंह में लगातार मैटलिक टेस्ट आ रहा है, तो इसका मतलब है कि आपकी किडनी बॉडी के अंदर के लिक्विड और वेस्ट को ठीक से फ्लो नहीं कर पा रही है। यह एक डेंजर साइन है।

सांस लेने में परेशानी
किडनी की परेशानी होने पर बॉडी में ऑक्सीजन की मात्रा कम होने लगती है। जिससे शॉर्ट ब्रीथ की प्रॉब्लम होती है। इससे फेफड़ों में लिक्विड और जहर डेवलप होने लगता है।

बॉडी के किसी हिस्से में सूजन
अगर आपकी बॉडी के किसी एक हिस्से जैसे पैर, हाथ, पंजे या लोअर लेग्स में सूजन आ रही है तो ये किडनी डैमेज होने का कारण हो सकती है।

हमेशा थका हुआ फील करना
रेड प्लेटलेट्स बॉडी में ऑक्सीजन सर्कुलेट करते हैं। जब आपकी किडनी अच्छी तरह काम करती है तो बोन मैरो ज्यादा प्लेटलेट बनाती है। अगर आपकी किडनी ढंग से काम नहीं कर रही है तो बोन मैरो रेड प्लेटलेट्स नहीं बनाएगी। जिससे बॉडी में ऑक्सीजन का फ्लो नहीं हो पाएगा। यह ऑक्सीजन की कमी आपकी बॉडी को दिमाग को थका हुआ फील करवाएगी।

अपर बैक पेन
किडनी डैमेज होने पर अपर बैक पेन की शिकायत आती है। यह अपर बैक के एक साइड में होता है। कभी-कभी ये दर्द फीवर की वजह भी बनता है।

यूरिन के कलर और जाने के टाइम में चेंज होना
किडनी खतरे में होने पर यूरिन में नोटिसेबल चेंज होता है। ज्यादा बार पेशाब लगना और इसका कलर चेंज होना इस बात का साइन है कि आपकी किडनी खतरे में है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: pichhle 34 saal se ek kidni par jindaa hain atl
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
Reader comments

More From Health and Beauty

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×