Hindi News »Lifestyle »Health And Beauty» Symptoms Of Urinary Tract Infection: You Should Know

अटल बिहारी वाजपेयी को है यूरिनरी ट्रेक्ट इंफेक्शन, इन संकेतों से करें इसकी पहचान

अटल बिहारी वाजपेयी को सोमवार से एम्स में एडमिट हैं। उन्हें यूरिनरी ट्रेक्ट इंफेक्शन के चलते एम्स में भर्ती कराया गया है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jun 12, 2018, 01:06 PM IST

अटल बिहारी वाजपेयी को है यूरिनरी ट्रेक्ट इंफेक्शन, इन संकेतों से करें इसकी पहचान

हेल्थ डेस्क। अटल बिहारी वाजपेयी को सोमवार से एम्स में एडमिट हैं। उन्हें यूरिनरी ट्रेक्ट इंफेक्शन के चलते एम्स में भर्ती कराया गया है। डॉक्टर्स की टीम उनकी देखरेख कर रही है। यूरिनरी इंफेक्शन का कारण अक्सर बैक्टीरिया होता है लेकिन कई बार ये फंगस और रेयर वायरस के चलते भी हो जाता है। ये इंफेक्शन यूरिनरी ट्रेक्ट के किसी भी पार्ट में हो सकता है। यह कॉमन इंफेक्शन है। यूरीनरी ट्रेक्ट किडनी, यूटरस, ब्लैडर और यूरेथा से मिलकर बनता है। ये इंफेक्शन किडनी और यूटरस पर भी असर करता है।

कोलंबस की सीनियर डॉक्टर और एमडी Traci C. Johnson ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कियह लोअर और अपर पार्ट दोनों में हो सकता है। इसके संकेत भी इस बात पर निर्भर करते हैं कि कौन से पार्ट में इंफेक्शन हुआ है अपर में या लोअर पार्ट में। लोअर पार्ट में इंफेक्शन होने पर ऐसे संकेत देखने को मिलते हैं।

- यूरिन के वक्त जलन होना
- बार-बार यूरिन आना लेकिन ज्यादा यूरिन पास नहीं होना।
- यूरिन को रोक नहीं पाना
- यूरिन में ब्लड आना
-यूरिन का रंग चेंज होना।
- पुरुषों में इस प्रॉब्लम के चलते रेक्टल (गुदा) पेन होता है।
- वहीं महिलाओं में पेल्विक (पेडू) पेन

अपर पार्ट का इंफेक्शन किडनी और ब्लैडर को अफेक्ट कर सकता है। इसमें बैक्टीरिया किडनी से ब्लड में ट्रांसफर हो जाता है। इससे पेशेंट की जान भी जा सकती है। अपर पार्ट में इंफेक्शन होने पर पर बॉडी अलग संकेत देती है।

संकेत

-इसमें अपर बैक और साइड में दर्द और कमजोरी फील होना
-ठंड के साथ फीवर आना।
-जी मिचलाना और उल्टी होना।

इंफेक्शन बचे कैसे
>इस इंफेक्शन से बचने के लिए टॉयलेट का यूज करने के बाद फ्रंट और बैक पार्ट को साफ करना चाहिए। क्योंकि यहीं से ये वायरस यूरेथा से होते हुए ब्लैडर में पहुंच जाता है। महिलाओं में UTI इंफेक्शन होने के चांजेस ज्यादा होते है क्योंकि उनमें यूरेथा छोटा होता है जिससे वैक्टीरिया जल्दी ब्लैडर में पहुंच जाते हैं।

>यूरिन को रोककर न रखें।

>खूब पानी पिएं।


>महिलाएं हाइजीन का ध्यान रखें।


>प्राइवेट पार्ट्स और उसके आसपास के एरिया को साफ रखें। कॉटन अंडरवियर पहनें।


>नायलोन अंडरवियर और टाइट जींस को अवॉइड करें। ये मॉश्चर को क्रिएट करके बैक्टीरिया ग्रोथ के लिए परफेक्ट एनवायरमेंट बनाते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: atl bihaari vaajpeyi ko hai yurinri trekt infekshn, in snketon se karen iski pahchan
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
Reader comments

More From Health and Beauty

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×