कोरोना वायरस को भगाने के लिए पोस्टर-बैनर लगा कर रहे जागरूक

Jamtara News - पीएम मोदी द्वारा संपूर्ण देश में 14 अप्रैल तक लोगों को अपने घर में ही रहने के लिए लाॅकडाउन का संदेश न सिर्फ...

Mar 27, 2020, 07:31 AM IST

पीएम मोदी द्वारा संपूर्ण देश में 14 अप्रैल तक लोगों को अपने घर में ही रहने के लिए लाॅकडाउन का संदेश न सिर्फ शहर-बाजार तक बल्कि सुदूरवर्ती गांव के लोग भी मानने लगे है। कोरोना वायरस के संभावित कहर को रोकने के लिए प्रशासन ने अब कड़े रुख अख्तियार किया है। सुबह से शाम तक संपूर्ण इलाके में लाउडस्पीकर के माध्यम से लोगों को नसीहत दी जा रही है। नाला प्रखंड मुख्यालय के सभी दिशा से आनेवाली सड़कों पर पुलिस बल की तैनाती की गई है तथा पुलिस एवं सिविल विभाग के अधिकारी सुबह से शाम तक धूप गर्मी को परवाह किए बिना लोगों को घर में रहने संबंधी जानकारी दे रहे है। मुख्य रूप से एसडीपीओ मनोज कुमार झा, पुलिस निरीक्षक हरेंद्र कुमार राय एवं बीडीओ सुनील कुमार प्रजापति ने बाजार से लेकर गांव देहात तक पहुंचकर घर से बाहर नहीं निकलने के लिए खबरदार कर रहे है। लाॅक डाउन को पालन करवाने के लिए प्रशासन द्वारा वैसे भीड़ जमा होने तथा अधिक संख्या में आवाजाही करने वाले स्थलों में पोस्टर बैनर लगाकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है।

इधर कोरोना को रोकने के लिए प्रशासनिक पहल के साथ साथ देवजोड़ आदि गांव के लोगों ने भी कोरोना को भगाने के लिए बैरिकेडिंग कर आवाजाही पर निषेधाज्ञा जारी किया है। ग्रामीण के अनुसार गांव के लोग बाहर नहीं जाएंगे तथा अन्य किसी को गांव में प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा है। इस व्यवस्था की सराहना की जा रही है। देश दुनिया की हालात को देखने के बाद भी कुछ लोग अब भी बेपरवाह होकर घर के बाहर नजारा देखने के लिए निकल रहे है। वहीं देवजोड़ जैसे गांव के लोग औरों को घर पर रहने का अनमोल संदेश देने लगे है। मिली जानकारी के अनुसार प्रखंड के सभी पंचायत सचिवालय में आइसोलेशन यूनिट बनाया जा रहा है।

बीडीओ और थाना प्रभारी ने राईस मील का लिया जायजा

फतेहपुर | फतेहपुर राईस मिल में काम कर रहे मजदूरों को बीडीओ व थाना प्रभारी ने मुंह में मास्क लगाने एवं सैनेटाइजर का व्यवहार करने का निर्देश दिया। गुरुवार को राईस मिल पहुंच कर मालिक से मिल चालू रखने हेतु आदेश की कॉपी दिखाने को कहा। इस पर मालिक ने कॉपी दिखाया। लेकिन मिल मालिक को मजदूरों से दूरी बनाकर काम लेने का निर्देश दिया। साथ ही सैनेटाइजर का व्यवहार करने का निर्देश दिया।

दूसरे प्रदेशों में फंसे मजदूरों को जल्द वापस लाने की व्यवस्था करें राज्य सरकार: मन्नान

जामताड़ा | ऑल इंडिया मोमिन कॉन्फ्रेंस के राष्ट्रीय सचिव डॉ अब्दुल मन्नान अंसारी ने विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूरों एवं राज्य से बाहर पढ़ने वाले छात्रों को झारखंड वापस लाने की व्यवस्था करने की मांग झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से की है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से मुकाबले के लिए पूरा देश एकजुट है।

इसका संक्रमण रोकने के लिए लॉकडाउन करना भी जरूरी है, लेकिन विभिन्न राज्यों में फंसे झारखंड के विभिन्न जिलों के मजदूरों को उनके बुरे हाल पर छोड़ देना किसी कीमत पर उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि फैक्ट्रियों तथा अन्य व्यवसाय बंद होने के कारण विभिन्न राज्यों में गए मजदूरों को दर-दर की ठोकरें खानी पड़ रही है। रोजगार के अभाव में मजदूरों के पास आर्थिक परेशानी भी है। ट्रेन और बसें बंद होने के कारण वापस नहीं लौट पा रहे हैं। इनमें कुछ लोग किसी तरह वापस आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्रीय तथा झारखंड सरकार को ठोस कदम उठाने की जरूरत है। जहां जहां फंसे हैं, मजदूर वहां पर विशेष शिविर लगाकर रहने और भोजन का इंतजाम सरकार तथा प्रशासन द्वारा किया जाए। साथ ही उनके स्वास्थ्य की जांच करके विशेष ट्रेनों और बसों के माध्यम से वापस लाया जाए।

कालाबाजारी पर नहीं राेक लगा पा रही है प्रशासन: डीवाईएफआई

जामताड़ा | भारत की जनवादी नौजवान सभा (डीवाईएफआई ) के जिला इकाई ने जामताड़ा जिला प्रशासन से ग्रामीण स्तरों के दुकानदार द्वारा चल रही कालाबाजारी पर रोक लगाने की मांग मीडिया के माध्यम से की है। जनवादी नौजवान सभा ने जामताड़ा जिला प्रशासन कालाबाजारी पर ध्यान नहीं देने का आरोप लगाया है। कहा कि जमकर कालाबाजारी हो रही है। इस पर जिला प्रशासन का अंकुश नहीं है। जामताड़ा जिला प्रशासन ने सिर्फ शहर के इर्द गिर्द घूम कर कालाबाजारी नहीं करने की बात कर रही है, लेकिन गांव एवं प्रखंडों में जमकर कालाबाजारी हो रही है। जिला से सटे 3 से 4 पंचायतों जैसे दक्षिण बहाल, गोपालपुर, सुपाइडीह, बेवा, बुधुडीह सहित कुछ-कुछ गांव में व अन्य पंचायतों में दुकानदारों द्वारा कालाबाजारी हो रही है।

माइकिंग कर लोगों को किया जा रहा है जागरूक

बागडेहरी | बुधवार को जामताड़ा उपायुक्त गणेश कुमार व पुलिस अधीक्षक अंशुमन कुमार ने संयुक्त रूप से लॉकडाउन को लेकर जिले भर में लोगों के लिए गाइडलाइन जारी की है। जिसका बागडेहरी थाना प्रभारी मुकेश कुमार व कुंडहित थाना प्रभारी नंदकिशोर सिंह ने गांव-गांव में पहुंच कर माइकिंग कर गाइडलाइन का प्रचार-प्रसार किया। जिसमें फल, सब्जी, दूध सुबह आठ बजे से ग्यारह बजे और राशन दुकान दोपहर दो बजे से शाम छ: बजे तक खोलने का निर्देश दिया। वहीं थाना प्रभारी कुमार ने दुकानदारों को ग्राहकों को राशन लेने के लिए लकीर भी खिंचवाया। दूकानदारों से कहा कि भीड़ न जमा होने दे‌ं। एक-एक ग्राहक काे राशन दें। साथ ही यह भी कहा कि राशन निर्धारित मूल्य पर ही ग्राहक को दें। कालाबाजारी करने पर कार्यवाही की जायेगी। लोगों से कहा कि बिना वजह कोई भी घर से न निकलें।

बेरिकेडिंग कर आवाजाही करने वालों को रोका जा रहा

पुलिस भी बेवजह सड़क पर निकलने वालों को घर में रहने की दे रही सलाह

नाला में गश्त लगाने के साथ ही लोगों को जागरूक करती पुलिस।

वापस आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्रीय तथा झारखंड सरकार को ठोस कदम उठाने की जरूरत है। जहां जहां फंसे हैं, मजदूर वहां पर विशेष शिविर लगाकर रहने और भोजन का इंतजाम सरकार तथा प्रशासन द्वारा किया जाए। साथ ही उनके स्वास्थ्य की जांच करके विशेष ट्रेनों और बसों के माध्यम से वापस लाया जाए।

हैदराबाद में फंसे जामताड़ा जिले के युवक।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना