--Advertisement--

1 महीने में बाल झड़ना हो जाएंगे बंद, कर लें इन 8 में से कोई एक उपाय

यहां हम आपको ऐसे 8 उपाय बता रहे हैं जिनमें से किसी एक को आप 1 महीने तक कर लेते हैं तो आपके बाल झड़ना तो बंद हो जी जाएंगे।

Danik Bhaskar | Apr 16, 2018, 05:58 PM IST

हेल्थ डेस्क। बाल झड़ना आज एक आम समस्या बन चुकी है। बालों को झड़ने से बचाने के लिए लोग कई जतन करते हैं लेकिन जानकारी के अभाव में सही उपाय नहीं कर पाते। यहां हम आपको ऐसे 8 उपाय बता रहे हैं जिनमें से किसी एक को आप 1 महीने तक कर लेते हैं तो आपके बाल झड़ना तो बंद हो जी जाएंगे। इससे आपके बाल शाइनी हो जाएंगे। इससे डेंड्रफ और खुजली की प्रॉब्लम भी दूर हो जाएगी। 

 

आयुर्वेद एक्सपर्ट डॉ अबरार मुल्तानी कहते हैं कि आयुर्वेद के उपायों से बालों की प्रॉब्लम्स को दूर किया जा सकता है। इसमें केमिकल नहीं होने साइड इफेक्ट का भी कोई खतरा नहीं रहता है। इन पेस्ट को पुरुष रोज और महिलाएं तीन दिन में एक बार लगा सकते हैं। 


एलो वेरा-

एलो वेरा के प्रयोग से सिर की त्वचा से मृत कोशिकाएं दूर होती हैं। यह त्वचा के रोमछिद्रों को साफ करके बालों की बढ़ोत्तरी में सहायता करता है। इसमें सैलिसिलिक एसिड मौजूद होता है तथा यह केराटिन के लाभ भी प्रदान करता है। केराटिन बालों की बढ़ोत्तरी करने वाला मुख्य खनिज होता है। इसके पल्प को बालों में लगाकर आधे घंटे बाद धो लेना है। इससे नए बाल उगने के साथ ही बाल झड़ना भी बंद हो जाते हैं। 

 

आगे की स्लाइड्स पर जानिए दूसरे उपायों के बारे में...

मेथी: 

मेथी एक नेचुरल कंडीशनर की तरह काम करता है। इसमें एंटीफंगल और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो बालों के विकास के लिए बहुत फायदमंद होते हैं। ये बालों का झड़ना भी रोकते हैं। मेथी का पेस्ट बना लें और उसे बालों की जड़ों तक लगाकर, आधे घंटे तक छोड़ दें। फिर थोड़ी देर बाद इसे धो लें।

नीम:

 नीम में एंटीबायोटिक, एंटीफंगल, एंटीइंफ्लेमेट्री और हीलिंग गुण होते हैं जो बालों से जुड़ी हर समस्या के लिए फायदेमंद होते हैं। यह स्कैल्प पर होने वाले खुजली से भी राहत दिलाते हैं। नीम के पत्तों और छाल को पीसकर बालों पर लगाने से बालों का विकास अच्छा होता है और बाल झड़ना बंद हो जाते हैं। 

आंवला: 

आंवला में विटामिन-सी और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो कोलेजन प्रोडक्शन में मदद करता है। कोलेजन बालों की वृद्धि को बढ़ाता है और विकास को सुनिश्चित करता है। आंवला के पाउडर को पानी में मिलाकर बालों के जड़ों पर लगाएं और उसे आधे घंटे तक छोड़ दें। फिर अच्छी तरह ठंडे पानी से उसे धो लें।

लैवेंडर: 
लैवेंडर में एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं जो बालों के झड़ने को रोकने में मदद करते है और साथ ही उन्हें जड़ से मजबूत भी करते है। इसमें एंटी-रेपेलेंट गुण भी होते हैं जो बालों में होने वाले जूं को खत्म करने में मदद करता है। लैवेंडर के तेल को बालों में लगाना चाहिए।  

रीठा :

 बालों को घना और मजबूत बनाने के लिए रीठा का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए रीठा को उबले पानी में भिगो लें। अब इस पानी से बालों को धोने पर उसकी वृद्धि में मदद मिलती है। इसका पानी मे पेस्ट बनाकर बालों की जड़ों में लगाकर आधे घंटे बाद धो लेना है।

शिकाकाई : 

 शिकाकाई पाउडर को नारियल के तेल के साथ इस्तेमाल किया जाता है। यह बालों से डैंड्रफ दूर करने के काम आता है। बालों को जड़ से मजबूत बनाने तथा उसकी वृद्धि करने में इसका महत्वपूर्ण योगदान होता है। इसके पेस्ट को बालों में लगाकर आधे घंटे बाद धोना होता है।

हिना: 

हिना में एंटीबैक्टीरियल, एंटीमाइक्रोबियल और एस्ट्रिंजेंट गुण होते हैं जो बालों के विकास के साथ-साथ उनके लंबे होने के लिए भी फायदेमंद होता है। हिना पाउडर और पानी के मिश्रण को आधे घंटे के लिए छोड़ दें और फिर उसे अच्छी तरह बालों पर लगाएं। लगभग एक घंटे बाद इसे अच्छी तरह धो लें।