केंद्रीय किसान मेला में गेतलसूद की शांति को सर्वश्रेष्ठ किसान का सम्मान

News - दो दिनी 42वां केंद्रीय श्री रामकृष्ण किसान मेला का शुक्रवार को गेतलसूद फॉर्म में समापन हो गया। किसानों से वर्ष 2022...

Feb 15, 2020, 07:41 AM IST

दो दिनी 42वां केंद्रीय श्री रामकृष्ण किसान मेला का शुक्रवार को गेतलसूद फॉर्म में समापन हो गया। किसानों से वर्ष 2022 तक आय दुगुनी करने के लिए जैविक खेती करने का आह्वान किया गया। मुख्य अतिथि खिजरी विधायक राजेश कच्छप व विशिष्ट अतिथि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के निदेशक डॉ. जटाशंकर चौधरी, स्वामी आत्मप्रियानंद, प्लांडू के निदेशक डॉ. एके सिंह, नाबार्ड के जीएम जय निगम, प्रमुख अनिता गाड़ी व पूर्व प्रमुख राजेंद्र शाही मुंडा थे। अध्यक्षता स्वामी भवेशानंद ने की। मेला समिति के सचिव पहलू बेदिया ने विवेकानंद सेवा संघों द्वारा कृषि विकास को लेकर चलाई जा रही योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। मौके पर विधायक राजेश कच्छप ने कहा कि झारखंड की 70 फीसदी आबादी खेती पर निर्भर है। रासायनिक खाद ने हमें मरीज बना दिया है। किसान जैविक खेती कर स्वयं को व आने वाली पीढ़ी को भी स्वस्थ रख सकते हैं। जैविक खेती से किसानों की आय भी दुगुना होगी।

1000 से अधिक कृषि उत्पादों का निबंधन

किसान गोष्ठी में तीन सौ से अधिक की संख्या में किसान शामिल हुए। इसमें कृषि विशेषज्ञ डॉ. अजीत कुमार सिंह, डॉ. भरत महतो, डॉ. मनोज कुमार सिंह, नेहा राजन आदि मौजूद थे। मेला में एक हजार से अधिक कृषि उत्पाद, कुटीर उत्पाद का निबंधन कराया गया। इसमें से श्रेष्ठ 66 फसलों में श्रेष्ठ 132 किसानों को पुरस्कृत किया गया। इस वर्ष के सर्वश्रेष्ठ किसान का पुरस्कार गेतलसूद की शांति देवी को दिया गया।

राॅल एवं गोंद संस्थान में सैकड़ों किसानों ने वैज्ञानिकों से अनुभव साझा किए

नामकुम | भारतीय प्राकृतिक राल एवं गोंद संस्थान में 13-14 फरवरी को दो दिनी किसान मेला-सह-प्रौद्योगिकी व यंत्र प्रदर्शनी का समापन सत्र शुक्रवार को हुआ। संस्थान के निदेशक डाॅ. केवल कृष्ण शर्मा और मेला के संयोजक डाॅ. निर्मल कुमार, विभागाध्यक्ष डाॅ. निरंजन प्रसाद, डाॅ. सौमेन घोषाल समेत संस्थान के अधिकारी, कर्मचारी, विभिन्न संस्थानों से लगाए गए 73 स्टाॅल के अधिकारी व प्रतिनिधि व लगभग 900 किसान उपस्थित थे। निदेशक ने बताया कि इस मेले में संस्थान की विकसित तकनीक व यंत्रों का प्रदर्शन किया गया है। मेला में सर्वश्रेष्ठ पांच स्टाॅल शशांक एग्रोटेक प्रालि. को प्रथम, भाकृअनुप-पहाड़ी व पठारी क्षेत्र के लिए कृषि प्रणाली अनुसंधान कंेद्र को संयुक्त रूप से द्वितीय पुरस्कार दिया गया।

बेहतर खेती की शपथ...गोष्ठी में तीन सौ से अधिक किसान हुए शामिल

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना