Hindi News »Business» Bharat Sethi And Neerja Desai Indian American Couple Sale Their Firm Syntel In $2 Billion

भरत देसाई और नीरजा सेठी की सिंटेल फ्रेंच कंपनी एटोस के हाथों बिकी, 2.34 लाख करोड़ रुपए में हुई डील

देसाई और सेठी को अपने 57% शेयर बेचने से 1.38 लाख करोड़ रुपए मिलेंगे

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jul 24, 2018, 01:31 PM IST

भरत देसाई और नीरजा सेठी की सिंटेल फ्रेंच कंपनी एटोस के हाथों बिकी, 2.34 लाख करोड़ रुपए में हुई डील

- 30 देशों में सिंटेल के 30,000 कर्मचारी, भारत में 18,000 एंप्लॉई

- 1992 में मुंबई और चेन्नई में डवलपमेंट सेंटर शुरु किया

- 2017 में कंपनी का 89% रेवेन्यू नॉर्थ अमेरिका से आया

बेंगलुरु. भारतीय-अमेरिकी पति-पत्नी भरत देसाई और नीरजा सेठी ने अपनी आईटी कंपनी सिंटेल को फ्रेंच कंपनी एटोस को बेच दिया है। डील 2,788 रुपए (41 डॉलर) प्रति शेयर के हिसाब से 2.34 लाख करोड़ रुपए (3.4 अरब डॉलर) में हुई। सिंटेल में इन दोनों के 57% शेयर हैं जिन्हें बेचकर दोनों को 1.38 लाख करोड़ रुपए (2 अरब डॉलर) मिलेंगे। देसाई और सेठी ने 1980 में सिंटेल की शुरुआत की। इससे पहले देसाई टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) में भी काम किया। वो टीसीएस जैसी ही कंपनी बनाना चाहते थे।
सफल कंपनी नहीं बन सकी सिंटेल : अमेरिका के मिशिगन में 2000 डॉलर की लागत से कंपनी शुरू हुई। पहले साल कमाई 30,000 डॉलर रही। 1982 में जनरल मोटर्स क्लाइंट के तौर पर जुड़ी तो ग्रोथ में तेजी आई। 2017 में रेवेन्यू 92.3 करोड़ डॉलर रहा। इसका 89% हिस्सा नॉर्थ अमेरिका से आया। दूसरी आईटी कंपनियों की तरह सिंटेल उतनी ग्रोथ नहीं कर पाई। इंफोसिस की शुरुआत सिंटेल के एक साल बाद हुई और उसका रेवेन्यू 10 अरब डॉलर से ऊपर है। ये सिंटेल से 10 गुना ज्यादा है।
अमेरिका में लिस्टिंग के बाद फायदा हुआ : कंपनी 1997 में अमेरिकी शेयर बाजार में लिस्ट हुई। अगले ही साल बिजनेस वीक मैग्जीन की हॉथ ग्रोथ कंपनीज की लिस्ट में इसने 70वीं रैंक हासिल की। फोर्ब्स की 200 बेस्ट स्मॉल कंपनीज कैटेग्री में दो नंबर पर जगह बनाई। डॉटकॉम बूम के बाद कंपनी का शेयर प्राइस नीचे आया लेकिन बाद में धीरे-धीरे रिकवर होने लगा। 2016 में एक बार फिर कंपनी के शेयर में तेज गिरावट आई। इस वजह से अरबपतियों की लिस्ट में देसाई और नीरजा की रैंक काफी नीचे आ गई। पिछले साल मार्च से शेयर में फिर तेजी शुरु हो गई।
भरत देसाई और नीरजा सेठी कौन हैं : देसाई का जन्म केन्या में हुआ। वो मोम्बासा और अहमदाबाद में पले-बढ़े। बॉम्बे आईआईटी से उन्होंने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की। मिशिगन यूनिवर्सिटी में एमबीए के लिए जाने से पहले उन्होंने टीसीएस में नौकरी की। एमबीए के दौरान 1980 में उनकी मुलाकात भारतीय मूल की नीरजा सेठी से हुई। दोनों ने शादी करने और कंपनी शुरु करने का फैसला किया। देसाई ने 2013 में दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान कहा, "मैं हमेशा से खुद का बिजनेस चाहता था क्योंकि किसी के नियमों में बंधकर नहीं रह सकता। मैंने महसूस किया कि भविष्य में आईटी इंडस्ट्री की तेजी से बढ़ेगी जिसका फायदा उठाया जा सकता है।" सिंटेल शुरुआत में एक आईटी स्टाफिंग कंपनी थी, जल्द ही ये आईटी एप्लिकेशन सर्विस फर्म बन गई। नीरजा सेठी ने हाल ही में फोर्ब्स की सबसे अमीर महिलाओं की सेल्फ मेड वूमेन लिस्ट में भी जगह बनाई। 6,800 करोड़ रुपए की नेटवर्थ के साथ नीरजा इस सूची में 21वें नंबर पर रहीं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×