पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कैबिनेट का फैसला: बिहार में अब वाहन खरीदना महंगा, 8 से 12 फीसदी तक देना पड़ेग टैक्स

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

पटना. बिहार में गाड़ी खरीदना महंगा हो जाएगा। मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई। इससे बाइक से लेकर कार और व्यावसायिक वाहनों तक की खरीद पर अधिक टैक्स (रजिस्ट्रेशन) देना होगा। अभी बाइक की खरीद पर 8% जबकि कार की खरीद पर 9 % टैक्स देना पड़ता है। नई व्यवस्था में बाइक या कार की कीमत के हिसाब से वाहन मालिक को एक्स शोरूम पर चार स्लैब में 8% से 12 % तक टैक्स देना पड़ेगा। जीएसटी में होने वाले घाटे की भरपाई के लिए सरकार ने यह कदम उठाया है। नई दर परिवहन विभाग द्वारा अधिसूचना की तिथि से लागू होगी। खास बात यह है कि वाहन जितना महंगा होता, टैक्स की दर भी उतनी ही अधिक होगी। व्यावसायिक वाहनों पर लगने वाले कर में हरेक वर्ष 1 अप्रैल को 3% का इजाफा हो जाएगा। 

 

अभी बाइक पर 8 % और कार पर 9 फीसदी लगता है टैक्स

 

बाइक-कार पर टैक्स की नई दर

कीमत (रुपए)दर (%)
1 लाख रुपए तक
1 लाख से 8 लाख तक
8 लाख से 15 लाख तक10 
15 लाख से अधिक12 

 

व्यावसायिक वाहनों पर इस तरह लगेगा टैक्स

वजनदर (रुपए)
1000 किलोग्राम8000 रुपए दस साल के लिए 
1001-3000 किलोग्राम8000+प्रति टन 6500 रुपए 10 साल
3000-10000 किलोग्राम8000+6500+प्रति टन 750 रुपए 
10000-24000 किलोग्राम8000+6500+प्रति टन 700 रुपए 
24000 किलोग्राम से अधिक8000+6500+प्रति टन 600 रुपए

टैम्पो पर टैक्स 

- 4 सीट वाले तिपहिया (चालक छोड़) पर 15 साल के लिए 10 हजार

- तिपहिया जिनका निबंधन एक वर्ष के भीतर हुआ है उन पर 10 वर्ष के लिए 6700 रु.

- 10 वर्ष से अधिक पुराने तिपहिया वाहनों पर अगले 5 साल के लिए 6 हजार

- 7 सीट वाले तिपहिया (चालक छोड़) पर 15 साल के लिए 15 हजार टैक्स

 

सीट साधारण सेमी डीलक्स डीलक्स
 13-26 550 675785
  27-32 600 750 860
 33 या अधिक 700870 

1025

 

वोल्वो-मर्सिडीज या ऐसी बसों पर प्रति सीट 1300 रु. टैक्स

 

 

 

 

 

 

 

 

खबरें और भी हैं...