• Hindi News
  • Bihar
  • Madhubani
  • Lakhnaur News bleaching powder will be sprayed in every panchayat area of madhwapur street neighborhood will be sanitized

मधवापुर के हर पंचायत क्षेत्र में ब्लीचिंग पाउडर का होगा छिड़काव, गली मोहल्ले किए जाएंगे सेनेटाइज

Madhubani News - प्रखंड क्षेत्र के लखनौर कोरियापट्टी गांव में ग्रामीणों ने करोना से ऐतिहात बरतने के लिए गांव के मुख्य सड़क पर...

Mar 27, 2020, 07:26 AM IST

प्रखंड क्षेत्र के लखनौर कोरियापट्टी गांव में ग्रामीणों ने करोना से ऐतिहात बरतने के लिए गांव के मुख्य सड़क पर बैरिकेडिंग लगाकर अपने ग्रामवासी को सुरक्षित रखने का अनोखा प्रयास शुरू किया है। गांव के युवाओं ने कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से बचाव पर आवश्यक चर्चा की। माइक से पूरे गांव के लोगों को जागरूक किया गया। लोगों को अपने घरों से न निकलने की सलाह दी। गांव में प्रवेश करने वाले सभी रास्ते की नाकेबंदी की गई। सभी का कहना था कि बचाव ही इस बीमारी से बचने का एक उपाय है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर हम लोग अमल कर रहे हैं। हमारे सगे संबंधियों को जो जहां हैं, उन्हें वहीं, समय बिताने की सलाह दे रहे हैं। आसपास के लोगों ने इस पहल को खूब सराहा। युवाओं से हाथ जोड़कर लोगों को 21 दिन तक घर के अन्दर रहने का निवेदन किया और सभी के स्वस्थ रहने की कामना की। मौके पर फौजी विमल कुमार सिंह, रामविलास महतो, पिंटू कुमार, राम कुमार, सीता राम महतो, उपेन्द्र महतो, राजकुमार महतो, हरेराम महतो व अरबिन्द कुमार सहित अन्य मौजूद थे।

कोरोना से बचाव के लिए पंचायतों में चलाया गया सतर्कता अभियान

भास्कर न्यूज|लखनौर

प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में कोरोना जैसी महामारी से बचाव के लिए जनप्रतिनिधियों, आशा कार्यकर्ता, सेविका, सहायिका सहित अन्य के साथ सतर्कता अभियान चलाया गया। ग्राम पंचायत मैबी की मुखिया ममताद देवी द्वारा पंचायत के सभी वार्डों में कोरोना से बचाव के लिए एतिहात बरतने व लोगों को अपने घरों में बंद रहने के लिए कहा गया। जिसके लिए सभी वार्डों में माइक द्वारा प्रचार-प्रसार कराया गया।उनके द्वारा एक बैठक भी आयोजित की गई, जिसमें प्रत्येक वार्ड के वार्ड सदस्य, वार्ड पंच, आशा, सेविका व सहायिका को एक समिति बनाने का निर्देश दिया गया। सभी को कहा गया कि प्रतिदिन लोगों के बीच पहुंचकर उसकी जरूरत के अनुसार मदद दिया जाए। इसी प्रकार ग्राम पंचायत बेरमा के मुखिया रमण प्रसाद द्वारा भी बेरमा पंचायत भवन पर कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए पंचायत के सभी जनप्रतिनिधियों, विकास मित्र, टोला सेवक आदि के साथ भी एक बैठक आयोजित की गई।

अन्य राज्यों से आए लोगों को होम आइसोलेट किया

लखनौर| जयपुर, दिल्ली, चेन्नई, मुम्बई सहित विभिन्न शहरों से गांव पहुंच रहे लोगों के लिए अपना गांव और लोग भी पराए हो गए हैं। ऐसे लोगों के गांव पहुंचते ही आसपास के लोग तरह-तरह की बातें करने लगे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि सरकार समझा रही है कि कोरोना एक भयंकर बीमारी है, इसका इलाज नहीं है। यह छुआछूत से फैलता है। ऐसी स्थिति में सभी लोगों को जो जिस शहर में हैं, वहीं रहना चाहिए। ऐसा करने से वे स्वयं भी सुरक्षित रहेंगे और दूसरे लोग भी सुरक्षित रख सकेंगे। दूरदराज के शहरों से लोगों का आना-जाना बदस्तूर जारी है। झंझारपुर अनुमंडल अस्पताल पहुंचे कुछ परदेसियों का हाल बहुत बुरा था। सब ने कहा कि हम लोग दूर शहरों में रहकर नौकरी करते थे। कोरोना जैसी भयंकर बीमारी की बात सामने आने पर हम लोग घर चले आए लेकिन हम लोगों ने यहां आकर बहुत बड़ी गलती की है। परिजनों के साथ आसपास के लोग भी हम लोगों के पास आना तो दूर बातें भी नहीं कर रहे। हम लोग अनुमंडल अस्पताल स्वास्थ्य जांच कराने के लिए आए हुए हैं। डॉक्टरों ने सात की संख्या में पहुंचे सभी परदेसियों की स्वास्थ्य जांच की। जिसके बाद मोहर लगाकर उन्हें होम आइसोलेट रहने की सलाह दी गई।

कोरियापट्टी में युवाअाें ने ग्रामीणों काे किया जागरूक

कोरियापट्टी गांव के बाहर बैरिकेडिंग करते युवा।

भास्कर न्यूज|मधवापुर

प्रखंड के सभी 13 पंचायतों में संबंधित पंचायत भवन पर गुरुवार को मुखिया की अध्यक्षता एवं पंचायत सचिव के संचालन में क्षेत्र के त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों, एएनएम, आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी सेविका सहायिकाओं की बैठक हुई। बैठक में सर्व सम्मति से कोरोना को हराने के लिए अगले लॉकडाउन तिथि तक सभी लोग अपने अपने घरों में कैद रहें। इसके लिए जन जागरूकता चलाने, विपरीत परिस्थिति में अपनी कर्मभूमि से लौटे बाहरी लोगों को उन्हें और उनके परिजनों की खातिर अपने घर के ही एक कमरे में 14 दिनों तक क्वारिन्टाइन रहने, संसाधन विहीन लोगों को गांव के बाहर स्थित स्कूल के कमरे में अपने खर्च पर क्वारिन्टाइन रहने के लिए जागरूक करने का निर्णय लिया गया। किसी तरह की परेशानी उत्पन्न होने पर मुखिया, सरपंच, स्वास्थ विभाग, बीडीओ, थानाध्यक्ष आदि को इसकी सूचना शेयर करेंगे। इसके अलावे पंचायत क्षेत्र को सेनेटाइज करने के लिए सभी ग्राम पंचायत को सीएचसी से 15 किलो ब्लीचिंग पाउडर आवंटित किया जाएगा। जिसको एक लीटर पानी में दस ग्राम पाउडर मिलाकर घोल तैयार किया जाएगा और प्रतिदिन क्षेत्र में छिड़काव कराने का निर्णय लिया गया। इसकी मजदूरी पर आने वाले खर्च संबंधित मुखिया पंचम वित्त राज्य आयोग मद से करेंगे। साथ ही लॉक डाउन की सफलता एवं अपने आस पास साफ सफाई के लिए माइकिंग कराकर लोगों को जागरूक करने, इसका उल्लंघन करने वालों की सूचना स्थानीय थाना को देने का निर्णय लिया गया। कई पंचायतों में यह बैठक एक-एक मीटर की दूरी पर बैठाकर आयोजित किया गया तो कई मुखियाओं ने सरकार के डबल फरमान का हवाला देकर इसे लॉक डाउन के खिलाफ माना और मोबाइल पर एक दूसरे को संदेश भेजकर बैठक की कागजी खानापूर्ति कर ली।

15 किलो ब्लीचिंग पाउडर आवंटित किया जाएगा, इसमें आने वाले खर्च मुखिया देंगे

अनुमंडल अस्पताल में बैठे अन्य राज्य से आए लोग।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना