Hindi News »Business» Business Brief, Sugar Stocks In Demand Surge Up To 7 Percent

बिजनेस ब्रीफ: शुगर मिलों को 7,000 करोड़ के बेलआउट पैकेज की उम्मीद

मंगलवार को चीनी कंपनियों के शेयर 7% तक उछले

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 06, 2018, 10:47 AM IST

बिजनेस ब्रीफ: शुगर मिलों को 7,000 करोड़ के बेलआउट पैकेज की उम्मीद

चीनी कंपनियों के शेयर 7% तक उछले

चीनी मिलों को 7000 करोड़ के बेलआउट पैकेज की संभावना की खबरों के बीच मंगलवार को शुगर कंपनियों के शेयरों में तेजी देखी गई। सूत्रों के मुताबिक सरकार पैसों की किल्लत से जूझ रहे चीनी कारखानों के लिए पैकेज की घोषणा कर सकती है जिससे वो किसानों का बकाया चुका सकें। बताया जा रहा है कि आज कैबिनेट कमेटी ऑन इकोनॉमिक अफेयर्स (सीसीईए) इस पर फैसला ले सकती है।

शेयरमंगलवार को तेजी
धमपुर शुगर मिल्स6.62%
अवध शुगर एंड एनर्जी6.55%
मवाना शुगर्स6.28%
बजाज हिंदुस्तान शुगर5.79%
उत्तम शुगर मिल्स5.79%

आईओसी बोर्ड से विवेक रे का इस्तीफा
पूर्व पेट्रोलियम सचिव विवेक रे ने इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन बोर्ड के डायरेक्टर पद से इस्तीफा दे दिया है। आईओसी ने रेग्युलेटरी फाइलिंग में जानकारी दी है कि 3 जून को उन्होंने स्वतंत्र निदेशक के पद से इस्तीफा दिया जो 4 जून को मंजूर कर लिया गया। 22 सितंबर 2017 को विवेक रे आईओसी बोर्ड में स्वतंत्र निदेशक बनाए गए थे। कंपनी ने उनके इस्तीफे की वजह नहीं बताई लेकिन माना जा रहा है कि प्रबंधन से मतभेदों की वजह से उन्होंने ये फैसला लिया।

हिंदुस्तान यूनिलीवर फूड और रिफ्रेशमेंट बिजनेस को इंटीग्रेट करेगी

हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड फूड और रिफ्रेशमेंट बिजनेस को दक्षिण एशिया में एक जुलाई से इंटीग्रेट करेगी। कंपनी का कहना है कि दोनों कारोबारों को एक करने से कारोबार को गति मिलेगी और उपभोक्ताओं को अच्छी सर्विस दे पाएंगे। कंपनी ने जून 2016 में फूड और रिफ्रेशमेंट (एफएंडआर) बिजनेस को अलग-अलग यूनिट में बांट दिया था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: bijnes brif: shugar milon ko 7,000 karode ke belaaut paikej ki ummid
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
Reader comments

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×