--Advertisement--

बिजनेस राउंड अप : बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच करेंसी की लड़ाई से रुपए पर दबाव बढ़ेगा

महंगाई दर 5% के आस-पास रहने के आसार

Dainik Bhaskar

Aug 06, 2018, 02:22 PM IST
देवांग्शु दत्ता बिजनेस स्टैं देवांग्शु दत्ता बिजनेस स्टैं

रिजर्व बैंक ने पॉलिसी दरें 0.25% बढ़ा दी हैं। चेतावनी दी है कि ग्लोबल करेंसी वार में रुपए पर दबाव बढ़ेगा। महंगाई 5% के आस-पास रहने के आसार हैं। यह 4% के लक्ष्य से ज्यादा है। उम्मीद है कि बैंक होम और ऑटो लोन पर ब्याज बढ़ाएंगे। अमेरिका के फेडरल रिजर्व ने कर्ज महंगा नहीं करने का फैसला किया, हालांकि इसने भी आगे ब्याज दर बढ़ाने की चेतावनी दी है।
ट्रेड वार से बाजार गिरे : अमेरिका-चीन में ट्रेड वार की आशंका फिर गहराने लगी है। अमेरिका ने चीन से 500 अरब डॉलर के पूरे आयात पर 25% टैरिफ की चेतावनी दी है। अभी तक यह कुछ आयात पर 25% शुल्क लगा चुका है और कुछ पर 10% टैरिफ लगाने की बात कही थी। चीन ने भी बदले की कार्रवाई की धमकी दी है। ट्रेड वार से दुनियाभर के मार्केट में गिरावट देखने को मिली।
आरकॉम बेच सकेगी एसेट : सुप्रीम कोर्ट ने आरकॉम और एरिक्सन के बीच विवाद का समाधान कर दिया है। आरकॉम 1 अक्टूबर तक एरिक्सन को 550 करोड़ देगी। इससे आरकॉम के एसेट जियो को बेचने का रास्ता साफ हो गया है। एसेट बिक्री से मिलने वाला पैसा कर्ज चुकाने में जाएगा।
रिलायंस के पक्ष में फैसला : सरकार के साथ गैस माइग्रेशन विवाद में अंतरराष्ट्रीय ट्रिब्यूनल ने रिलायंस इंडस्ट्रीज और इसकी पार्टनर कंपनियों बीपी और निको रिसोर्सेज के पक्ष में फैसला सुनाया है। ट्रिब्यूनल ने सरकार पर 57 करोड़ का जुर्माना भी लगाया है। सरकार फैसले के खिलाफ अपील करेगी। नवंबर 2016 में सरकार ने रिलायंस पर 10,400 करोड़ रु. का जुर्माना लगाया था। जस्टिस शाह समिति ने पाया था कि पास के ओएनजीसी के इलाके से गैस रिसकर रिलायंस के इलाके में आ गई थी, जिसका उत्पादन कंपनी ने किया था।
जीएसटी का कैशबैक : जीएसटी काउंसिल ने भीम, यूपीआई और रूपे कार्ड का इस्तेमाल बढ़ाने के लिए ट्रायल के तौर पर कैशबैक स्कीम शुरू करने का फैसला किया है। ग्राहकों को जीएसटी का 20% कैशबैक मिलेगा। अधिकतम कैशबैक 100 रुपए होगा। बेसिक बैंक अकाउंट वाला कोई भी व्यक्ति इसका लाभ ले सकता है।
विप्रो ने निपटाया केस : आईटी कंपनी विप्रो ने अमेरिका में करीब 57 करोड़ रुपए देकर नेशनल ग्रिड के साथ विवाद निपटाया है। अब विप्रो की नेशनल ग्रिड पर ना कोई देनदारी रहेगी और ना ही उसे कोई गलती स्वीकार करनी पड़ेगी। हालांकि मौजूदा तिमाही में कंपनी का मुनाफा कम हो सकता है।

खरीफ फसलों का उत्पादन घटा तो महंगाई बढ़ेगी : मौसम विभाग का अगस्त में सामान्य बारिश का अनुमान है। यानी यह लॉन्ग टर्म एवरेज के 8% कम या ज्यादा रहेगी। निजी कंपनी स्काइमेट ने औसत की 88% बारिश की बात कही है। अभी तक देश के 84% हिस्से में बारिश सामान्य है। केयर रेटिंग्स का कहना है कि खरीफ की ज्यादातर फसलों की बुवाई कम हुई है। खरीफ उत्पादन घटा तो महंगाई बढ़ सकती है।

देवांग्शु दत्ता, कंट्रीब्यूटिंग एडिटर, बिजनेस स्टैंडर्ड

X
देवांग्शु दत्ता बिजनेस स्टैंदेवांग्शु दत्ता बिजनेस स्टैं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..