Hindi News »Business» Business Round Up What Devanshu Dutta Says On Rupee

बिजनेस राउंड अप: सरकार को विदेशी मुद्रा भंडार से रुपए को नियंत्रण में रखने का भरोसा

6 महीने में रुपए में करीब 8% गिरावट आई।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jul 02, 2018, 10:21 AM IST

बिजनेस राउंड अप: सरकार को विदेशी मुद्रा भंडार से रुपए को नियंत्रण में रखने का भरोसा

पिछले हफ्ते डॉलर के मुकाबले रुपया अब तक के सबसे निचले स्तर 69.10 तक गिर गया। थोड़ी रिकवरी के साथ शुक्रवार को 68.46 पर बंद हुआ। जनवरी में रुपया 63.67 के स्तर पर था। तब से 7.7% गिर चुका है। यह कमजोरी कई कारणों से है। ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध और कच्चे तेल के दाम बढ़ने से आयात बिल बढ़ा है। विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों की बिकवाली से भी रुपए पर दबाव है। रिजर्व बैंक व वित्त मंत्रालय आश्वस्त हैं कि इस भंडार के जरिए वह स्थिति को नियंत्रण में रख सकते हैं।
आईसीआईसीआई: नए चेयरमैन पर छवि सुधारने का जिम्मा
आईसीआईसीआई बैंक ने रिटायर्ड आईएएस गिरीश चतुर्वेदी को नॉन एग्जीक्यूटिव चेयरमैन नियुक्त किया है। वह एमके शर्मा का स्थान लेंगे जो 30 जून को रिटायर हुए। चतुर्वेदी 2013 में पेट्रोलियम सेक्रेटरी पद से रिटायर हुए थे। वह आईडीबीआई, बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा और आईडीएफसी बैंक के बोर्ड में रह चुके हैं। आईसीआईसीआई बैंक एमडी और सीईओ चंदा कोचर पर हितों के टकराव के आरोपों से जूझ रहा है। चंदा जांच होने तक छुट्टी पर हैं। जांच का जिम्मा रिटायर्ड जस्टिस श्रीकृष्ण पर है। बतौर चेयरमैन चतुर्वेदी को बैंक में लीडरशिप में बदलाव की प्रक्रिया देखनी पड़ सकती है।
जोखिम भरा होगा आईडीबीआई बैंक में एलआईसी का निवेश
इरडा ने सरकारी नियंत्रण वाले आईडीबीआई बैंक में एलआईसी को 51% हिस्सेदारी खरीदने की मंजूरी दे दी है। बैंक में अभी इसकी 10.8% हिस्सेदारी है। बैंक तीन साल से घाटे में है। इसका 55,588 करोड़ का एनपीए 1.70 लाख करोड़ रुपए लोन बुक का 27.9% है। एलआईसी इसमें 13,000 करोड़ रु. निवेश कर सकती है। बैंक में एलआईसी की भले ही बहुमत हिस्सेदारी होगी पर वह मैनेजमेंट में हस्तक्षेप नहीं करेगी। एलआईसी आने वाले वर्षों में अतिरिक्त हिस्सेदारी धीरे-धीरे बेचेगी। इसकी फंडिंग बीमाधारकों के प्रीमियम से होती है, इसलिए इस डील की आलोचना भी हो रही है।
अमेरिकी वस्तुओं के टैरिफ पर घोषणा वापस ले सकता है भारत
जुलाई के मध्य में वॉशिंगटन में भारत और अमेरिका के बीच टैरिफ पर बातचीत होनी है। ट्रंप प्रशासन द्वारा स्टील और एल्युमीनियम उत्पादों पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने के जवाब में पिछले दिनों भारत ने अमेरिका से 29 वस्तुओं के आयात पर शुल्क बढ़ाने की घोषणा की थी। भारत ने 4 अगस्त से ड्यूटी बढ़ाने का प्रस्ताव रखा है। लेकिन अगर वाशिंगटन की बैठक में स्टील और एल्युमीनियम पर अमेरिका ने राहत दी तो भारत अपनी घोषणा वापस ले सकता है। अमेरिका से भारत कच्चे तेल का आयात भी बढ़ा सकता है।
अप्रैल तक 8 महीने में 40 लाख लोगों को नौकरियां
ईपीएफओ के मुताबिक सितंबर-अप्रैल में 8 महीने में 40 लाख नौकरियां बढ़ीं। यह गणना ईपीएफओ, कर्मचारी राज्य बीमा और नेशनल पेंशन स्कीम के ग्राहकों की संख्या के आधार पर है। ईपीएफओ का डेटा बताता है कि वित्त वर्ष 2017-18 में 6 करोड़ सदस्यों ने कम से कम एक महीने का योगदान किया है।

देवांग्शु दत्ता, कंट्रीब्यूटिंग एडिटर, बिजनेस स्टैंडर्ड

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×