• Hindi News
  • कुछ यूं दी पटखनी, होश उड़ गए इस पहलवान के

कुछ यूं दी पटखनी, होश उड़ गए इस पहलवान के

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

उदयपुर। उठा-पटक, दांवपेंच, सूझबूझ और चतुराई से मात देना। कुश्ती के इस दंगल में किसी को पराजित करना सहज नहीं होता। क्योंकि इस खेल की बाजी एक पल में ही बदल जाती है। इस खेल की एक और सबसे खास बात है जैसे-जैसे समय समाप्त होता जाता है वैसे-वैसे रोमांच बढ़ता ही चला जाता है।

शायद यही वजह है कि इस मुकाबले को देखकर दर्शक पल-पल रोमांचित होते हैं। रोचकता से भरे इस खेल में पहलवान जोर आजमाईश कर विरोधी को धूल चटाने की हर संभव कोशिश करता है। ऐसा नजारा राजसमंद शहर के बालकृष्ण स्टेडियम में देखने को मिला। राजस्थान केसरी व राजस्थान कुमार के लिए कुश्ती दंगल हुआ। रोचक मुकाबलों ने दर्शकों को खूब रोमांचित किया।