पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • नाटकीय घटनाओं और कला की बानगी के साथ घूमर हुआ सम्पन्न

नाटकीय घटनाओं और कला की बानगी के साथ घूमर हुआ सम्पन्न

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर. राजस्थान यूनिवर्सिटी में 11वां इंटरनेशनल यूथ फेस्ट घूमर का अंतिम दिन कई घटनाओं और विरोधों से जुड़ा रहा। सांस्कृतिक कार्यक्रमों के अलावा नाटकीय घटनाक्रम भी देखने को मिला।

इसमें पूर्व महासचिव नरेश मीणा ने कई बार कार्यक्रम को नाटकीय रूप दिया। कभी उन्होंने मंच पर कब्जा करने की कोशिश की तो कभी स्वामी विवेकानंद की मूर्ति के सामने स्टूडेंट्स को संबोधित करते हुए अपना अलग घूमर चलाने की बात की। इस मौके पर उन्होंने कैम्पस के गार्डन में ही अपने कुछ साथियों के साथ डांस और गानों का सिलसिला भी चलाया।

गौरतलब है कि बुधवार को फेस्ट का समापन हुआ, जिसमें कुलपति और सीनियर आईएएस ने शिरकत कर स्टूडेंट्स को मोटिवेट किया। इससे पहले सुबह 11 बजे से सांस्कृतिक कार्यक्रमों का सिलसिला शुरू हुआ, जिसमें शहर भर की यूनिवर्सिटीज के साथ उदयपुर यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स ने भी पार्टिसिपेट किया।

अंतिम दिन मेहंदी, वेस्टर्न म्यूजिक वोकल, वेस्टर्न म्यूजिक इंस्ट्रूमेंटल, मोनो एक्टिंग, रंगोली, फेंसी ड्रेस कॉम्पिटीशन, इंडियन फोक डांस और मिस्टर घूमर व घूमर क्वीन का सलेक्शन किया गया।

अंत में मोहन लाल सुखाडिय़ा यूनिवर्सिटी, उदयपुर के राघव चतुर्वेदी को मिस्टर घूमर और राजस्थान यूनिवर्सिटी की दीपिका शेखावत को घूमर क्वीन घोषित किया गया। हालांकि दीपिका शेखावत को घूमर क्वीन बनाने को लेकर विरोध भी हुआ।

छात्रसंघ उपाध्यक्ष नेहा सिंह और उनकी बहन आभा सिंह ने विरोध करते हुए फिर से सलेक्शन की मांग करते हुए हंगामा कर दिया।