पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • ग्राम सेवक संघों के चिंतन शिविर में पारित हुआ समान वेतन का एजेंडा

ग्राम सेवक संघों के चिंतन शिविर में पारित हुआ समान वेतन का एजेंडा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर। देशभर के ग्राम सेवक संघों के दो दिवसीय (23 -24 फरवरी) राष्ट्रीय चिंतन शिविर के आखिरी दिन रविवार को समान वेतन-समान काम - समान सम्मान का एजेंडा पारित किया है। इसके साथ ही सभी प्रदेशों में ग्रामीण विकास व पंचायती राज योजनाओं को समान रूप से लागू करने और 73 वां संविधान संशोधन लागू करने की मांग की है।

राष्ट्रीय स्तर पर पहली बार हुए ग्राम सेवक संघ के राष्ट्रीय चिंतन शिविर में 8 सूत्री मुद्दों पर चर्चा व विचार विमर्श किया गया। महासंघ के राष्ट्रीय महामंत्री सोहनलाल डारा ने बताया कि चिंतन शिविर में दो दिन तक मंथन किया गया। इसके बाद ग्राम सेवकों के कल्याण के साथ ही ग्रामीण विकास पर भी चर्चा की गई।अब इस एजेंडा को केंद्रीय सरकार व राज्यों सरकारों को भेज कर लागू करवाने के लिए दबाव बनाया जाएगा।

इन मुद्दों पर हुआ चिंतन :- पंचायतीराज सामुदायिक विकास कार्यक्रम ग्राम सेवकों की भूमिका पर चर्चा।


-ग्राम सेवकों की भूमिका और ग्राम स्वराज नौकरशाही में तनाव के कारणों पर चर्चा ।


-पंचायतीराज से जुड़े 73 वें संविधान संशोधन 1992 की 11 वीं अनुसूची में वर्णित 29 विषयों के विधिक हस्तांतरण, थ्री एफ एवं क्रियान्वयन पर चर्चा ।


-ग्राम सेवक पदेन पंचायत सचिव की शक्तियां, कृत्य एवं कर्तव्य पर चर्चा ।

वीडियो व फोटो : श्याम राज शर्मा