पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • संस्कारित विद्यार्थी अपनी रचनात्मक भूमिका निभाएं : शेखावत

संस्कारित विद्यार्थी अपनी रचनात्मक भूमिका निभाएं : शेखावत

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर. विधानसभा अध्यक्ष दीपेंद्र सिंह शेखावत ने विद्यालयों को शिक्षा का मंदिर बताते हुए कहा कि विद्यार्थी संस्कारयुक्त शिक्षा पाकर ही देश के नवनिर्माण में अपनी रचनात्मक भूमिका निभा सकेंगे।

शेखावत आज यहां विश्वकर्मा औद्योगिक क्षेत्र स्थित सरस्वती बाल विद्या मन्दिर सीनियर सेकेंडरी स्कूल के वार्षिक उत्सव समारोह में मुख्य अतिथि पद से बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी के सर्वांगीण विकास में शिक्षक की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। होनहार विद्यार्थी न केवल विद्यालय का बल्कि अपने परिवार, समाज और प्रदेश का नाम भी गौरवान्वित करते हैं।

शेखावत ने विद्यालय की उत्तरोत्तर प्रगति तथा विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की। प्रारंभ में विद्यालय के निदेशक प्रताप सिंह टटेरा ने शेखावत का स्वागत करते हुए विद्यालय की गतिविधियों का ब्यौरा दिया।

शेखावत ने इस अवसर पर शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने वाले विद्यार्थी प्रदीप सिंह राजावत को 11 हजार रुपये राशि का चेक भेंट किया और अन्य विद्यार्थियों और विद्यालय के शिक्षकों को भी पारितोषिक वितरित कर सम्मानित किया।

इस मौके पर बुनकर संघ के पूर्व अध्यक्ष राधेश्याम तंवर ,पार्षद सी.एम. शर्मा और मोहिनी कंवर भी उपस्थित थे। समारोह में स्कूल के छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया।