• Hindi News
  • चार माह में कैसे लगेगी 50 लाख वाहनों की हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट 2 साल में पुराने वाहनों पर लगा

चार माह में कैसे लगेगी 50 लाख वाहनों की हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट 2 साल में पुराने वाहनों पर लगानी थी 50 लाख वाहनों के हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर। परिवहन विभाग 20 महीने बाद भी पुराने वाहनों पर हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट शुरू नहीं कर पाया है। इससे पुराने वाहन बिना हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट के ही सड़कों पर दौड़ रहे हैं।

उधर, नंबर प्लेट लगाने वाले हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट के नाम से लोगों से मनमर्जी की राशि वसूली रहे हैं। वहीं एग्रिमेंट के हिसाब से कंपनी को दो साल में पुराने वाहनों के हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट लगानी थी, लेकिन विभाग की ओर से स्वीकृति नहीं मिलने से प्लेट लगना शुरू नहीं हुआ है। तय एग्रिमेंट के हिसाब से पुराने वाहनों पर प्लेट लग जाती तो मार्केट में नंबर प्लेट लगाने की नौबत नहीं आती।

विभाग में आचार संहिता लगने से एक महीने पहले पुराने वाहनों पर नंबर प्लेट लगाने का प्रस्ताव बना था, लेकिन इसके बाद अधिकारी इसे भूल गए। प्रदेश में वर्तमान में हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट शुरू होने से पहले करीब 80 लाख पुराने वाहनों का रजिस्ट्रेशन हो चुका था।

इसमें से करीब 50 लाख वाहन सड़कों पर दौड़ रहे हैं। बाकी वाहन क्षतिग्रस्त होने पर इंश्योरेंस उठा लिया गया। अब कंपनी को विभाग से एग्रिमेंट किए 15 जुलाई,14 को 2 साल हो जाएंगे। ऐसे में सवाल उठता है कि चार माह में 50 लाख वाहनों के हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट कैसे लगेगी।
आरटीओ ने नंबर प्लेट और कार डेकोरेशन दुकानों पर की कार्रवाई
हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट के नाम से बिक रही फर्जी प्लेट को लेकर आरटीओ के उडऩ दस्तों ने गुरुवार को शहर में कई जगह नंबर लगाने वाली दुकानों और कार डेकोरेशन दुकानों पर जांच की। जांच आरटीओ ने तीन उडऩ दस्तों के माध्यम से करीब 20 दुकानों पर की गई। यहां से करीब 10 से अधिक नंबर प्लेट के सैंपल लेकर आए। अब इन्हें जांच के लिए कंपनी को भेजा है। फर्जी प्लेट के संबंध में गुरुवार को भास्कर ने शहर में बिक रही है नकली हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट से खबर प्रकाशित कर मामला को उजागर किया था। उधर आरटीओ वी.पी. सिंह ने हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट से नंबरों हल्के पडऩे और साइनिंग कम होने के संबंध में रियल मिजोन कंपनी से रिपोर्ट मांगी है।