--Advertisement--

गैंगस्टर आनंदपाल का खुफिया फार्म हाउस, कैदियों के लिए बना रखा था पिंजरा

गैंगस्टर आनंदपाल का खुफिया फार्म हाउस, कैदियों के लिए बना रखा था पिंजरा

Dainik Bhaskar

Jun 25, 2017, 12:38 PM IST
आनंदपाल का फार्महाउस आनंदपाल का फार्महाउस
लाडनूं(राजस्थान). पुलिस अफसर पर फायरिंग करने के बाद गैंगस्टर आनंदपाल सिंह पर पुलिस का शिकंजा लगातार कसता जा रहा था। आखिरकार 24 जून की रात 11.30 बजे उसका एनकाउंटर कर दिया गया। कुछ महीने पहले आनंदपाल की तलाश में पुलिस की एक टीम उसके फार्म हाउस पर पहुंची थी। टीम ये देख हैरान थी कि इस घर के तहखाने में लोगों को बंद करने के लिए एक पिंजरा रखा गया था। और गोलीबारी करने के हिसाब से तैयार किया गया था। अपहरण हो या मर्डर सभी की योजना इसी फार्म हाउस में बनाई गई थी। ये फार्म हाउस आनंदपाल के खास रहे धर्मेंद्र हरिजन की पत्नी सीता देवी के नाम था। मिला बंधक बनाकर रखने वाला पिंजरा...
- यह भी पता चला कि करीब 25,000 स्कवायर फीट में फैले फार्महाउस में ही आनंदपाल ने कई अपराधों को अंजाम दिया था। फार्म हाउस के अंदर एक दो मंजिला भवन बना हुआ था, उसमें एक बेसमेंट जैसा तहखाना भी था।
- थानाधिकारी नागरमल कुमावत ने बताया था कि यह भवन आनंदपाल सिंह के गुर्गों के रुकने एवं अपराध की योजना बनाने के काम में लिया जाता था।
- इसके तहखाने में 10 से अधिक चारपाइयों रखी हुई मिली, जो गुर्गों के वहां रुकने व छुपने के काम में ली जाती थी।
- उसमें एक लोहे का भारी पिंजरा भी मिला, जिसे आनंदपाल सिंह व उनके गुर्गे अपहरण करके लाए गए व्यक्ति को बंद कर देते थे तथा फिरौती का भुगतान नहीं होने तक उसे पिंजरे में रखते थे।
पाइप से तहखाने तक पहुंचाते थे जरूरी वस्तुएं
- बिल्डिंग में पहली व दूसरी मंजिल पर फायरिंग की अलग-अलग पोजिशन लेने के मोर्चे भी थे।
- सीआई नागरमल कुमावत ने बताया था कि इस भवन में लेईंग पोजिशन, स्टेंडिंग पोजिशन व निलींग पोजिशन से फायर करने के मोर्चे बने हुए मिले थे।
- इसके साथ छत से लेकर तहखाने में संदेश, मोबाइल व अन्य वस्तुएं पहुंचाने के लिए दीवारों में पाइप लगाकर स्थान बनाए हुए थे।
- इस घर को पुलिस पर फायर करने, मुख्य द्वार पर आने वाले पर सीधा हमला करने एवं अन्य मोर्चे लेने के लिए बनाया गया था।
मिली आनंदपाल की पहली स्पेशियो गाड़ी
- फार्म हाउस में बने गैरेज में छिपाकर रखी गई एक पुरानी स्पेशियो गाड़ी भी मिली थी।
- इस गाड़ी पर आगे व पीछे कहीं पर भी नंबर नहीं लगे हुए थे। इस गाड़ी के बारे में बताया जा रहा है कि यह आनंदपाल की सबसे पहली गाड़ी है। जिसे कई वारदातों में इस्तेमाल किया गया था।
- इसके अलावा वहां पर एक टीवी सेट, सेटअप बॉक्स, एक स्टील आलमारी, लोहे के सरिए, बड़ी संख्या में चारपाइयों, कुछ पुराने कागजात वगैरह भी पुलिस को मिले थे।
आगे की स्लाइड्स में देखिए अपराधियों के इस घर की Inside फोटोज...
X
आनंदपाल का फार्महाउसआनंदपाल का फार्महाउस
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..