• Hindi News
  • रिश्वतखोरी लाइव, देखिए किस तरह हो गया सौदा

रिश्वतखोरी लाइव, देखिए किस तरह हो गया सौदा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रायपुर। खाकी वर्दी पर रिश्वतखोरी के आरोप तो लगते रहे हैं, लेकिन हम आपको दिखा रहे हैं इसकी सीधी तस्वीरेंं। बात कर रहे हैं रायपुर स्थित कलेक्ट्रेट के एसडीएम दफ्तर की। यहां रिश्वत ले रहे एक पुलिस वाले को इस रिपोर्टर ने कैमरे में कैद किया। यह रिश्वत पेशी बढ़ाए जाने के लिए पांच लोगों ने मिलकर दी। रिश्वत लेने के बाद जब इन महोदय से इस रिपोर्टर ने सीधी बात करनी चाही तो वो आंखें तरेरने लगे। जब रिश्वतखोरी के इस वीडियो को कलेक्टर को दिखाया गया तो इसके खिलाफ कलेक्टर सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेसी ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

आगे जानिए, किस तरह बचने की कोशिश करने लगा ये पुलिसवाला




एसडीएम कार्यालय में कार्यरत पुलिस का यह जवान पेशी की तारीख बढ़ाने के लिए रिश्वत ले रहा था कि कैमरे में कैद हो गया। जिनकी कोर्ट में पेशी चल रही थी वे सौ-सौ रूपए एकत्र कर इस जवान को दे रहे थे।


जब आरोपी जवान से रिश्वत लेते हुए कैमरे में कैद हो गया तो उससे सीधी बात की गई, लेकिन वह वहीं पर इससे मुकरने लगा। उसका कहना था कि वह पैसा नहीं लिया है। वह पैसे की मांग नहीं कर रहा था। सामने वाले ने दे दिया तो ले लिया।

कलेक्टर सिद्धार्थ कोमल परदेसी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिपांशु काबरा ने भी वीडियो देख कार्रवाई की बात कही।


एसडीएम दफ्तर में जरूरी काम से आने वाले लोगों का कहना है कि बिना पैसे दिए कोई काम नहीं होता है। लोगों का आरोप है कि यहां के लिपिक तो अब अपने हाथ से पैसा नहीं लेते हैं। इसके बजाय वे टेबल में लगे दराज में डालने के लिए इशारा करते हैं।