पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • पूरे स्कूल को संवार रहे स्कूली बच्चे

पूरे स्कूल को संवार रहे स्कूली बच्चे

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

सिटी रिपोर्टर. रायपुर
प्रो. जेएन पांडे शा. स्कूल में प्रवेश करते ही दीवारों पर बनी ऑयल पेंटिंग पहली ही नजर में किसी का भी ध्यान अपनी तरफ आकर्षित कर सकती है। ये पेंटिंग किसी प्रोफेशनल कलाकार ने नहीं, बल्कि इसी स्कूल में पढऩे वाले स्टूडेंट्स द्वारा बनाई गई है।
कुछ महीने पहले स्कूल में हुए ड्राइंग कंपटीशन में हुनरमंद स्टूडेंट्स का पता चला और तभी प्राचार्य एमआर सावंत ने घोषणा की कि यही बच्चे पूरे स्कूल की दीवारों पर पेंटिंग बनाकर स्कूल को संवारेंगे। जनवरी स्कूली बच्चों ने पेंटिंग बनाना शुरू किया, जो हालही में बनकर पूरा हुआ। इसके लिए स्कूल प्रबंधन ने बच्चों को पेंट तथा ब्रश प्रदान किया और क्रिएटिविटी बच्चों ने दिखाई। इसमें 20 बच्चे शामिल हुए। जो क्लास नवमी से बारहवी तक के पढऩे वाले है।
क्या बनाया दीवारों पर: दीवार पर बस्तर आर्ट, प्राकृतिक नजारे, समुद्र में नाव का गोते खाना, सूर्योदय के साथ प्राणायाम से दिन की शुरूआत, भोरम देव, छत्तीसगढ़ हॉट को बनाने के लिए मुख्य कलाकार के रूप में ये स्टूडेंट्स दीपक विश्वकर्मा, पंकज, सुधीर साहू, विष्णु, सुरेश टोप्पो, ऋषभ यादव, दुष्यंत वर्मा, सबनदास, कोमल ने काफी वक्त दिया। इन विद्यार्थियों को प्रोत्साहन के रूप में वार्षिकोत्सव में पुरस्कृत किया गया। हालांकि अभी करीब 10 ही पेंटिंग दीवार पर बनी है, लेकिन नए सत्र में फिर से स्कूल की बाकी दीवारों पर पेंटिंग बनाना शुरू हो जाएगा।
इसमें विष्णु ऐसा प्रतिभागी है, जो इस वर्ष आरएमएसए द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में 50 हजार रुपए का प्रथम पुरस्कार जीत चुका है। नए सत्र में ही स्कूल के कुछ विद्यार्थियों द्वारा विवेकानंद की मूर्ति का निर्माण किया जाएगा। जिसकी ऊंचाई लगभग विवेकानंद सरोवर में लगी विवेकानंद की प्रतिमा इतनी होगी, जिसमें स्कूल परिसर में लगाया जाएगा। मूर्ति निर्माण में वे बच्चे शामिल होंगे, जिन्हें संस्कृति विभाग द्वारा मूर्ति कला प्रशिक्षण दिया गया। ये विद्यार्थी प्लास्टर ऑफ पेरिस से विवेकानंद की मूर्ति गढ़ेंगे।