पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • बाराती बैलगाड़ी के साथ दुल्हन 45,000 रुपए में

बाराती बैलगाड़ी के साथ दुल्हन 45,000 रुपए में

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रायपुर। ब्याह रचाकर अपने साथ दुल्हनिया को धूमधाम से बैलगाड़ी में ले जाती बाराती हर किसी का ध्यान अपनी तरफ खींच रही है। सोने से दमकती इस दो फीट की बैलगाड़ी और उसमें सवार दूल्हा-दुल्हन और बाराती पंडरी के छत्तीसगढ़ हाट में लगे जगार 2013 में देखने को मिल रहा है।


छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड द्वारा आयोजित जगार में देशभर से तमाम शिल्पकारों ने अपनी-अपनी शिल्पों का स्टॉल लगाया है। जिसमें हर एक कलाकृति हटकर है। ऐसे ही रायगढ़ जिला के शिल्पकार विजय कुमार झोरका के स्टॉल में बेल मेटल से निर्मित बैलगाड़ी में सवार दूल्हा-दुल्हन और बाराती पहली ही नजर में हर किसी को पसंद आ रहा है। आमतौर पर बेल मेटल से बनी कलाकृति हल्के काले रंग की होती है, लेकिन इस शिल्पकार ने कुछ नया प्रयोग करके बारात वाली बैलगाड़ी बनाई है। दो फीट की इस बैलगाड़ी को बनाने के लिए एक महीने का समय लगा है, जिसकी कीमत 45,000 रुपए है।


धन की देवी पांच फीट की: मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिला से आए एक कलाकार ने पंचधातु से निर्मित कलाकृतियां रखी है। पंचधातु यानी सोना, चांदी, तांबा, जस्ता और रागा से बनी छोटी-बड़ी मूर्तियां वैसे तो लुभा रही है, लेकिन 5 फीट की देवी लक्ष्मी खड़ी पोजीशन में है। जिसकी कीमत 30,000 रुपए है। जबकि कदम पेड़ के नीचे खड़े राधा-कृष्ण की मूर्ति 60 किलो की है, जो साढ़े तीन फुट की है, जिसकी कीमत 45,000 रुपए है।