• Hindi News
  • पत्रकारिता छात्रा की दास्तां: तब ट्रेन कोच की बंद कर दी थी लाइट

पत्रकारिता छात्रा की दास्तां: तब ट्रेन कोच की बंद कर दी थी लाइट

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रायपुर। मैं रात में ट्रेन से अकेले घर जा रही थी। बदमाशों ने मुझे अकेले देख बोगी का दरवाजा बंद कर लिया। कुछ देर में लाइट भी ऑफ कर दी। वे मेरे साथ गंदा काम करना चाहते थे। मुझे उस समय ऐसा लग रहा था कि ट्रेन से कूद जाऊं। दूसरे बोगी में गई तो वे वहां भी पहुंच गए और वहां लड़कों को मारकर भगा दिया। उस दिन के बाद से अब मैं रात में ट्रेन में अकेले सफर नहीं करती।

यह कहानी रायपुर के एक पत्रकारिता छात्रा की है। उसने नाम प्रकाशित नहीं करने का आग्रह करते हुए दिल दहलाने वाली दास्तां बताई।

खबर के प्रस्तुतिकरण के लिए डेमो पिक्स का इस्तेमाल किया गया है।