--Advertisement--

पद्मश्री सुरेंद्र दुबे न्यू ईयर पर कहते रहे अभी मैं जिंदा हूं, ये है इसके पीछे वजह

पद्मश्री सुरेंद्र दुबे न्यू ईयर पर कहते रहे अभी मैं जिंदा हूं, ये है इसके पीछे वजह

Danik Bhaskar | Jan 02, 2018, 06:39 PM IST


रायपुर। जाने-माने छत्तीसगढ़ी हास्य कवि पद्मश्री डॉ. सुरेंद्र दुबे को नए साल पर किसी ने फोन पर विश नहीं किया। न ही वो किसी को विश कर पाए। वजह थी इनकी मौत की झूठी खबर। हर फोन बस ये जानने के लिए आ रहा था कि उनकी अंत्येष्टि कहां होने वाली है। सुरेंद्र दुबे ने हंसते हुए कहा कि कई लोग तो गमछा लेकर नदी की ओर चले गए कि यहीं अंत्येष्टि के बाद स्नान वगैरह करके घर जाऊंगा। जानिए अपनी मौत की खबर पर क्या बोले सुरेंद्र दुबे...


- झूठी खबर वायरल होने के बाद dainikbhaskar.com उनके पास पहुंचा। सुरेंद्र दुबे ने बातचीत के दौरान बताया कि करीब 1 हजार फोन पर मौत की खबर की पुष्टि के लिए आए।
- अभी भी फोन का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। सभी यहीं पूछते हैं कि क्या ये खबर सच है।
- कुछ को जब खुद डॉ. दुबे ने कहा कि अरे भई मैं बोल रहा हूं और जिंदा हूं तो लोगों को लगा कि शायद कोई मजाक कर रहा है।
- फिर ये कहना पड़ता था कि भगवान कसम मैं जिंदा हूं। कई बार तो इन्होंने खुद चुटकी ले ली और कहा कि मैं उनका भूत बोल रहा हूं और फिर हंस पड़े।
- नए साल पर खुद के मौत की खबर आने और उसका खंडन करने के इस नए अनुभव को शेयर करते हुए उन्होंने छत्तीसगढ़ी में एक कविता भी अपने पाठकों के लिए सुनाई।

फोन बंद हुआ तो बढ़ी गलतफहमी

- डॉ. दुबे ने हंसते हुए कहा कि जीवन में पहली बार इस बात का अहसास हुआ फोन बंद होने के क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं।

- सबसे बड़ा नुकसान तो ये हुआ कि जब ये झूठी खबर फैली तब मैं फोन बंद करके सो रहा था।

- लोगों ने फोन किया और उन्हें कन्फर्म हो गया कि फोन बंद यानी बात में है सच्चाई।

- हंसते हुए डॉ. दुबे ने कहा कि मैं मरूंगा नहीं क्योंकि ऐसा कोई काम करूंगा नहीं।

कैसे फैली मौत की झूठी खबर? जानने के लिए यहां क्लिक करिए ....


आगे की स्लाइड्स में क्लिक करके देखिए खबर की और Photos...