• Hindi News
  • आरटीआई का सही उपयोग होना चाहिए : न्यायमूर्ति पटनायक

आरटीआई का सही उपयोग होना चाहिए : न्यायमूर्ति पटनायक

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रांची। सूचना का अधिकार अधिनियम का इस्तेमाल अगर सही तरीके से नहीं होगा है तो इसकी साख गिर सकती है। उक्त बातें शनिवार को सुप्रीम कोर्ट के न्यायधीश न्यायमूर्ति एके पटनायक ने कही। वे सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ झारखंड में आयोजित लेक्चर सूचना अधिकार अधिनियम 2005 पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि कुछ ऐसे भी आरटीआई कार्यकर्ता है जो बिना कारण और उद्देश्य के इसका इस्तेमाल करते है।

उन्होंने कहा कि अगर इस अप्लीकेशन का इस्तेमाल सही तरीके से हो तो हमारा देश सही दिशा में जा सकता है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट भी इसपर नजर रखता है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता प्रत्येक नागरिक को मिले। पटनायक ने कहा कि आईटीआई के तहत बड़ी समस्या भी आ रही है। अगर किसी कार्यालय से किसी व्यक्ति को सूचना नहीं मिलती है तो वह सूचना पाने के लिए आरटीआई का एक आवेदन लगा देता है। इसकी वजह से कार्यालय के नियमित कार्य में बाधा पहुंचती है। जो बिल्कुल सही नहीं है।

मौके पर सीयूजे के वाइस चांसलर प्रो ए एन मिश्रा ने कहा कि आगे भी इस तरह के लेक्चर का आयोजन संस्थान की ओर से होता रहेगा। कार्यक्रम में स्कूल फॉर स्टडी ऑफ कल्चर के प्रो जे बरुआ, सीयूजे के फैकल्टी, स्टाफ और काफी संख्या में स्टूडेंट्स उपस्थित थे।

फोटो कैप्शन : सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ झारखंड में आयोजित लेक्चर सूचना अधिकार अधिनियम 2005 के दौरान जस्टिक पटनायक व अन्य।

फोटो : राजीव गोस्वामी।