रांची

  • Hindi News
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • ३३ सालों से नहीं रुकी इस स्टेशन पर कोई भी पैसेंजर ट्रेन, जानिए क्यों
--Advertisement--

३३ सालों से नहीं रुकी इस स्टेशन पर कोई भी पैसेंजर ट्रेन, जानिए क्यों

३३ सालों से नहीं रुकी इस स्टेशन पर कोई भी पैसेंजर ट्रेन, जानिए क्यों

Dainik Bhaskar

Feb 23, 2016, 10:12 AM IST
चास रेलवे स्टेशन से क्रॉस होती चास रेलवे स्टेशन से क्रॉस होती
रांची/बोकारो। झारखंड के बोकारो जिला स्थित काला पत्थर गांव के पास 1982 में चास रेलवे स्टेशन की स्थापना की गई। लेकिन 34 साल गुजर जाने के बाद भी यहां आज तक कोई पैसेंजर ट्रेन नहीं आई। इस रूट से कोई यात्री ट्रेन गुजरती ही नहीं है। इससे लोगों को काफी परेशानी होती है। क्यों नहीं गुजरती कोई पैसेंजर ट्रेन...
25 फरवरी को रेल बजट पेश किया जाएगा। इस मौके पर dainikbhaskar.com आपको बता रहा है झारखंड के चास रेलवे स्टेशन के बारे में...
जब इस रेलवे ट्रैक का निर्माण हो रहा था, तब ग्रामीणों से यह कहकर जमीन ली गई थी कि इस रूट में मालगाड़ियों के साथ सवारी गाड़ियां भी चलेंगी। लेकिन अब तक सिर्फ मालगाड़ी ही चलती रही है। इस बारे में ग्रामीण जावेद अंसारी ने कहा कि हमारी ओर से कई बार डीआरएम और रेल मंत्री को आवेदन दिया गया, लेकिन सवारी गाड़ियों का परिचालन शुरू नहीं किया गया। वहीं, स्टेशन मास्टर के अनुसार सवारी गाड़ी के लिए यह लाइन फिट नहीं है।
जनता को कुछ फायदा नहीं
इस स्टेशन में पांच स्टेशन मास्टर और 14 ऑपरेटिंग स्टाफ हैं। राजस्व नहीं आने के कारण यहां कमर्शियल स्टाफ एक भी नहीं हैं। इन 19 कर्मियों के पीछे रेलवे हर माह लगभग चार लाख रुपए वेतन मद में खर्च करती है, जबकि अन्य अनुरक्षण के नाम पर भी लाखों रुपए खर्च किए जाते हैं। लेकिन जनता को कुछ फायदा नहीं हो रहा है।
बोकारो-महुदा लाइन कहा जाता है इसे
बोकारो स्टेशन से महुदा तक इस रूट में मालगाड़ियां चलती हैं। इसे बोकारो-महुदा लाइन कहा जाता है। 43 किमी लंबी लाइन में बोकारो स्टेशन के बाद इस्पात नगर स्टेशन, चास स्टेशन, बांधडीह स्टेशन, तलगड़िया स्टेशन और महुदा स्टेशन है। इस रूट में 24 घंटे में 10 से 30 मालगाड़ियां गुजरती हैं। अधिकतर मालगाड़ियां बीएसएल और इलेक्ट्रो स्टील कंपनी की चलती हैं। वहीं, लोगों को यात्री ट्रेन से जर्नी करने के लिए बोकारो स्टील सिटी स्टेशन आना पड़ता है।

विधायक ने लिखा रेल मंत्री को पत्र
बोकारो के विधायक विरंची नारायण ने इस संबंध में रेल मंत्री सुरेश प्रभु को पत्र लिखा है। पत्र में कहा कि 80 के दशक में चास रेलवे स्टेशन का निर्माण कराया गया था। यहां से अाज तक एक भी यात्री ट्रेन नहीं चली, जो आश्चर्य का विषय है।
आगे की स्लाइड्स में देखिए संबंधित PHOTOS...
X
चास रेलवे स्टेशन से क्रॉस होतीचास रेलवे स्टेशन से क्रॉस होती
Click to listen..