• Hindi News
  • Rajya
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • News
  • भूत प्रेत और रहस्यों की करता था पड़ताल, अब खुद की मौत बनी पहेली

भूत-प्रेत और रहस्यों की करता था पड़ताल, अब खुद की मौत बनी पहेली / भूत-प्रेत और रहस्यों की करता था पड़ताल, अब खुद की मौत बनी पहेली

भूत-प्रेत और रहस्यों की करता था पड़ताल, अब खुद की मौत बनी पहेली

Jul 11, 2016, 03:15 PM IST
गौरव रहस्यमयी बातों, घटनाओं और गौरव रहस्यमयी बातों, घटनाओं और
रांची। आत्मा और भूत-प्रेत व रहस्यमयी दुनिया जैसे सब्जेक्ट्स पर वैज्ञानिक अध्ययन के लिए बनाई गई संस्था 'इंडियन पारानॉरमल सोसाइटी' के संस्थापक व सीईओ गौरव तिवारी की संदिग्ध परिस्थितियों मे मौत हो गई। वे दिल्ली के द्वारका सेक्टर-19 में अपनी फैमिली के साथ रहते थे। घटना सात जुलाई की है। गौरव तिवारी के दोस्त और रांची के रहने वाले पारानाॅर्मल इंवेस्टिगेटर शिशिर कुमार ने सोमवार को dainikbhaskar.com से उनसे जुड़ी कई बातें साझा की हैं। गौरव से ही कई चीजें जानने और समझने को मिली थी...
- शिशिर ने बताया कि गौरव ने कई उभरते हुए रिसर्चर को पारानॉर्मल एक्टिविटी इंवेस्टिगेट करना सिखाया था। शिशिर को भी गौरव से ही कई चीजें जानने और समझने को मिलीं।
- शिशिर पेंटाकल पारानॉर्मल रिसर्च सोसायटी के फाउंडर प्रेसिडेंट भी हैं। गौरव के साथ लंबे समय तक काम कर चुके हैं।
- शिशिर के अनुसार गौरव ने ही पारानॉर्मल के मानचित्र पर भारत का नक्शा खींचा था। उनकी जगह कोई नहीं भर सकता। वो हमेशा सभी पारानॉर्मल रिसर्चर के लिए प्रेरणास्रोत रहेंगे।
भुतहा जगहों पर जाना था काम
- गौरव ने ऐसी ही सोसाइटीज से प्रेरणा लेते हुए पैरानॉर्मल सोसाइटी बनाई। वो लगातार रहस्यमयी बातों, घटनाओं और जगहों को खंगाल रहे थे लेकिन उनकी मौत ही अब एक बड़ा रहस्य बन गई है।

- गौरव के पास अपने अलग अलग उपकरणों के साथ भुतहा कही जाने वाली जगहों की पड़ताल करने वाले युवाओं की एक पूरी टीम थी।
- उनके वैज्ञानिक प्रमाणों ने तर्कशास्त्रियों और रेशनलिस्टों के सामने एक नई चुनौती पेश कर दी थी। जहां भूतों को मानने वाले अलग-अलग धार्मिक ग्रंथों की अपने हिसाब से व्याख्या करते थे।
प्रमाण के तौर पर रखते थे रहस्यों को
- वहीं गौरव इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में कैद होने वाली अस्वभाविक या परा प्रभाव वाली गतिविधियों को कैद कर प्रमाण के तौर पर रखते थे।
- उनके इस शौक को पहचान तब मिली जब देश भर में खतरनाक कही जाने वाली जगहों पर रातों में रुक रुककर उन्होंने कई प्रमाण जुटाए।

- विदेशों में ऐसी कई सोसाइटीज काम करती हैं जो इस तरह के वैज्ञानिक प्रमाण रहस्यमयी जगहों के बारे में रखती थी।
- गौरव ने ऐसी ही सोसाइटीज से प्रेरणा लेते हुए पैरानॉर्मल सोसाइटी बनाई। वो लगातार रहस्यमयी बातों, घटनाओं और जगहों को खंगाल रहे थे।
मौत से पहले पत्नी से कही थी ये बात
- गौरव की फैमिली के मुताबिक उनकी पत्नी और पिता ने बाथरूम से बहुत तेज आवाज सुनी। वे उस और दौड़े तो देखा गौरव जमीन पर पड़े थे। पुलिस तफ्तीश के बाद जानकारी दी गई कि उनके गले पर काला निशान दिखाई दे रहा है।
- गौरव के पिता के मुताबिक वो भूत-प्रेतों को नहीं मानते लेकिन गौरव काफी दिनों से अपनी पत्नी से कह रहे थे कि कोई नकारात्मक शक्ति उन्हें अपनी तरफ खींच रही है। वो पिछले कुछ दिनों से परेशान थे। शायद उन्हें अपनी माैत का आभाष हो गया था।
- उनकी पत्नी ने इसे महज काम का तनाव माना था लेकिन उनकी रहस्यमयी मौत ने पूरे परिवार को सकते में डाल दिया।
आगे की स्लाइड्स में देखिए गौरव तिवारी से जुड़ी कुछ फोटोज...
X
गौरव रहस्यमयी बातों, घटनाओं औरगौरव रहस्यमयी बातों, घटनाओं और
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना