पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • विश्वविद्यालय कर्मचारियों को छठा वेतनमान, आज शाम में प्रस्ताव पर लगेगी कैबिनेट की मुहर

विश्वविद्यालय कर्मचारियों को छठा वेतनमान, आज शाम में प्रस्ताव पर लगेगी कैबिनेट की मुहर

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रांची। राज्य के पांचों विश्वविद्यालयों के कॉलेज कर्मियों के लिए खुशखबरी। छठे वेतनमान के प्रस्ताव पर वित्त विभाग ने स्वीकृति दे दी है। इसके बाद एचआरडी के प्रस्ताव को बुधवार को होनेवाली कैबिनेट में चर्चा के बाद मुहर लगने की संभावना है। छठे वेतनमान का लाभ राज्य के पांचों विश्वविद्यालयों के 7500 कर्मचारी को मिलेगा। इधर, प्रस्ताव को कैबिनेट में जाने की भनक मिलते ही कर्मचारियों में खुशी की लहर है। गौरतलब है कि कॉलेज कर्मचारी इसी मांग को लेकर हड़ताल पर हैं।


एम एसीपी व एसीपी मिलेगा

छठे वेतनमान के साथ कर्मचारियों को और भी कई मांगों पर मुहर लगने वाली है। इसमें एसीपी और एमसीपी शामिल है। इसका भी प्रस्ताव तैयार कर कैबिनेट में स्वीकृति के लिए भेजा गया है।


प्रतिमाह 10 हजार रुपए अधिक मिलेगा


विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के कर्मचारियों को छठा वेतनमान, एमएसीपी और एसीपी का लाभ मिलने से औसतन प्रतिमाह प्रत्येक कर्मचारी को लगभग 10 हजार रुपए अधिक मिलेंगे। कुछ वरीय कर्मचारियों को प्रतिमाह 15 हजार रुपए अधिक मिलेंगे।


जनवरी 2006 से लागू होगा


छठा वेतनमान प्रस्ताव के अनुसार एक जनवरी 2006 से लागू होगा। इससे कर्मचारियों को छह साल एरियर मद में वेतन अंतर राशि मिलेगी। हर कर्मचारी को एरियर में 1.5 लाख से दो लाख रुपए मिलेंगे।

विभाग ने अपना कार्य कर दिया

मानव संसाधन विकास विभाग ने कर्मचारियों के पक्ष में अपना कार्य कर दिया है। अब इस प्रस्ताव पर निर्णय लेना कैबिनेट कार्य है। - डॉ. डीएन ओझा, उच्च शिक्षा निदेशक