--Advertisement--

बिल्डिंग से यूं लटकती मिली लाश, खोती कुत्ता पहुंचा गर्ल्स हॉस्टल

बिल्डिंग से यूं लटकती मिली लाश, खोती कुत्ता पहुंचा गर्ल्स हॉस्टल

Danik Bhaskar | Nov 22, 2017, 12:31 PM IST
बिल्डिंग से लटकी मिली युवक की बिल्डिंग से लटकी मिली युवक की

धनबाद (झारखंड)। माडा बिल्डिंग में मंगलवार को एमडी आॅफिस के बाथरूम की खिड़की से बंधे एक युवक का शव छज्जे पर मिला। उसके गले में गमछा बंधा था और उसका दूसरा हिस्सा खिड़की की जाली से बंधा था। सुरक्षा के इंतजामों के बावजूद 25 फीट ऊंचे छज्जे पर युवक कैसे पहुंचा, यह रहस्य बना हुआ है। वहीं, जब डाॅग स्क्वॉड की टीम पहुंची तो खोजी कुत्ता एक गर्ल्स हॉस्टल तक गया और फिर वापस लौट आया। इस हालात में मिला शव...


-युवक के गले में गमछा बंधा था। उसका दूसरा सिरा खिड़की से बंधा मिला। 25 फीट ऊंचे छज्जे पर युवक की बॉडी बैठी हुए मुद्रा में थी।
-उसके दोनों पैर पीछे की ओर मुड़े हुए थे। जिस खिड़की की जाली में गमछे का दूसरा सिरा बंधा था, उसकी ऊंचाई छज्जे से महज चार फीट थी। मृतक इस्लाम की लंबाई 5 फीट 6 इंच बताई जा रही है।

मनोरम नगर के गर्ल्स हॉस्टल जाकर लौटा खोेजी कुत्ता
-छानबीन के लिए पुलिस ने डॉग स्क्वॉड की भी मदद ली। खोजी कुत्ता घटनास्थल से मनोरम नगर के एक गर्ल्स हॉस्टल तक गया। वहां एक कमरे से होता हुआ छत पर गया।
-फिर माडा कार्यालय लौट आया। उसके बाद सीढ़ी के रास्ते छत पर जाकर चारदीवारी लांघने की कोशिश की। इसमें सफल नहीं होने पर वहीं बैठ गया।

बच्चे ने बताया गार्ड को
-कस्तूरबा नगर जाने वाली सड़क से एक बच्चे ने युवक का शव देखने के बाद गार्ड को खबर दी। सूचना मिलने पर लॉ एंड आॅर्डर डीएसपी नवल शर्मा और धनबाद थाने की पुलिस मौके पर पहुंची।
-जेसीबी मशीन की मदद से शव को छज्जे से उतारा गया। मृतक के पास से पुलिस को एक आधार कार्ड मिला। इससे उसकी पहचान मुर्शिदाबाद के धुलियाना निवासी नूर इस्लाम (37) के रूप में की गई।
-पुलिस ने पोस्टमॉर्टम कराके शव को मॉर्चरी में रखवा दिया। धनबाद पुलिस ने मुर्शिदाबाद के शमशेरगंज थाने में खबर देकर नूर के परिजनों को ढूंढ़ने का अनुरोध किया है।
-पुलिस इस मामले को हत्या मानकर चल रही है। जानकारी के मुताबिक, पोस्टमॉर्टम में युवक की मौत की वजह 'दम घुट जाना’ बताई गई है।

तीनों गेटों पर ताला लगा था

-सोमवार की रात 10 बजे से गार्ड जमुना राम और साबिर हुसैन ड्यूटी पर थे। उन्होंने मंगलवार को बताया कि लुबी सर्कुलर रोड से माडा बिल्डिंग में आने के तीन रास्ते हैं।
-नगर निगम ऑफिस वाले गेट पर गार्ड राहुल तैनात था। तीनों गेटों पर ताला लगा था। माडा कार्यालय में प्रवेश करने के तीनों रास्तों के गेट पर भी ताले लगे थे।
-दोनों गार्डों ने दावा किया कि सामने से कोई भी शख्स परिसर में प्रवेश नहीं कर सकता। छत पर जाने का तो कोई सवाल ही नहीं उठता।

आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज...

फोटो/वीडियो : विद्युत वर्मा।