• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • यहां एक रात में ही गायब हो जाते है पहाड़ जैसे रेत के टीले
--Advertisement--

यहां एक रात में ही गायब हो जाते है पहाड़ जैसे रेत के टीले

Dainik Bhaskar

Apr 23, 2016, 09:32 AM IST

यहां एक रात में ही गायब हो जाते है पहाड़ जैसे रेत के टीले

रेत के समन्दर में एक स्थानीय म रेत के समन्दर में एक स्थानीय म
जोधपुर। थार के रेगिस्तान में पाकिस्तान से सटी सीमा, दूर तक न कोई पेड़ है और न ही किसी प्रकार की झाड़ी। नजर आता है बस रेत का समन्दर। रेत के इस समन्दर में लहरों के साथ उठते है रेत के गुबार। गुबार थोड़ा थमे तो मालूम पड़ता है कि पहाड़ के समान जो रेत का विशाल टीला कल तक सामने खड़ा था वह गायब हो चुका है। उसके स्थान पर मैदान नजर आता है। यह कोई भूल-भुलैया नहीं है। यह स्थान है जैसलमेर जिले का शाहगढ़ बल्ज क्षेत्र। यहां गर्मी के इस मौसम में तेज आंधियों का दौर शुरू हो चुका है। इन गुबार के बीच रास्ता तक नहीं मिलता। यदि कोई रास्ता भटक गया तो पानी के अभाव में उसकी मौत तय है। ऐसे गायब होते ही रेत के विशाल टीले...

- रेगिस्तानी क्षेत्र में पेड़-पौधों के अभाव में जमीन में मिट्टी की पकड़ नहीं होती।
- थोड़ी तेज हवा चलते ही उसके साथ मिट्टी भी उड़ना शुरू हो जाती है।
- गर्मी के मौसम में तापमान बढ़ने के साथ गरम हवा ऊपर उठना शुरू होती है। इससे आंधियां जल्दी आती है।
- हवा की रफ्तार बढ़ने के साथ मिट्टी का उड़ना बढ़ता जाता है और यह आंधी में बदल जाती है।
- आंधियों के दौर में शाहगढ़ बल्ज क्षेत्र में रेत के विशाल टीले अपना स्थान बदलते रहते।

यहां नहीं ठहरती तारबंदी

- भारत ने पाकिस्तान से सटी 3323 किलोमीटर लम्बी सीमा पर दोहरी तारबंदी कर रखी है। तारबंदी के साथ फ्लड लाइट लगा रखी है।
- शाहगढ़ बल्ज क्षेत्र में शिफ्टिंग सेंड ड्यून्स के कारण न तो तारबंदी ठहरती है और न ही फ्लड लाइट के पोल।
- इस क्षेत्र में तकनीकी विशेषज्ञों ने स्थाई तारबंदी के लिए कई प्रयोग किए, लेकिन वे धरे रह गए।
- इस क्षेत्र में सबसे अधिक दिक्कत करीब तीस किलोमीटर लम्बी सीमा पर आ रही है।
- यहां पर तारबंदी के नीचे से मिट्टी निकल जाती है और तारबंदी हवा में लटक नीचे गिर जाती है।
- तारबंदी नहीं ठहरने के कारण हमेशा घुसपैठ की आशंका रहती है।
- ऐसे में यहां पर सीमा सुरक्षा बल को अतिरिक्त चौकसी बरतनी पड़ती है।
 
X
रेत के समन्दर में एक स्थानीय मरेत के समन्दर में एक स्थानीय म
Astrology

Recommended

Click to listen..