पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • ईद उल जुहा: खुदा की बारगाह में झुके हजारों सिर और की अमन चैन की दुआ

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ईद-उल-जुहा: खुदा की बारगाह में झुके हजारों सिर और की अमन-चैन की दुआ

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जोधपुर। शहर में मंगलवार को ईद-उल-जुहा(बकरीद) मनाया जा रहा है। हज होने के खुशी में मनाए जाने वाले कुर्बानी के इस त्योहार पर मुख्य नमाज जालोरी गेट स्थित ईदगाह में अदा की गई। आज खुदा की बारगाह में हजारों सिर झुके और देश, प्रदेश और कौम के लिए अमन चैन की दुआ की गई। ऐसे अदा की नमाज...
- ईद-उल-जुहा की नमाज के लिए आज सुबह से ही लोग जालोरी गेट स्थित मुख्य ईदगाह पहुंचना शुरू हो गए।
- नमाज शुरू होने तक ईदगाह से काफी दूर जालोरी गेट तक लोगों को सड़क पर बैठ नमाज अदा करनी पड़ी।
- नमाज के पश्चात लोग अपने वैर-भाव भुलाकर गले मिले और मुबारकबाद दी। क्या बच्चे और क्या बड़े सभी ईद के उत्साह से सराबोर नजर आए।
- इस अवसर पर बड़ी संख्या में मौजूद शहर के गणमान्य लोगों ने भी मुस्लिम समाज के लोगों को ईद की शुभकामनाएं दी।
- इसके बाद अल्लाह की राह में कुर्बानी देने का सिलसिला शुरू हुआ जो पूरे दिन चलेगा।

इसलिए मनाते है ईद-उल-जुहा

- इस्लाम में पांच फर्ज माने गए है। हज उनमें से आखिरी फर्ज है। मुसलमानों के लिए जीवन में एक बार हज करना जरूरी माना गया है।
- हज होने की खुशी में ईद-उल-जुहा का त्योहार मनाया जाता है। इसे बलिदान का त्योहार भी कहा जाता है।
- पवित्र रमजान माह के समाप्त होने के करीब सत्तर दिन पश्चात इसे मनाया जाता है।
- इस्लामिक मान्यता के अनुसार हजरत इब्राहिम अपने पुत्र हजरत इस्माइल को खुदा के हुक्म पर कुर्बान करने जा रहे थे।
- इस पर अल्लाह ने उनके पुत्र को जीवनदान प्रदान कर दिया। जिसकी याद में यह पर्व मनाया जाता है।
सभी फोटो एल देव जांगिड़
अगली स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो


खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें