नीतीश सरकार नीतीश सरकार

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पटना. बिहार की ग्राम सभा ने मेड इन चाइना वस्तुओं के बहिष्कार करने का फैसला लिया है। पाकिस्तान को लगातार मिल रही चीन की मदद से आक्रोशित ग्राम सभा ने यह फैसला लिया है। क्यों लिया है यह फैसला...

- बिहार के औरंगाबाद जिले के ओबरा पंचायत की ग्राम कचहरी ने मेड इन चाइना वस्तुओं के बहिष्कार करने का फैसला लिया है।
- ग्राम सभा ने फैसला लिया है कि पंचायत के 1000 आबादी मेड इन चाइना वस्तुओं का इस्तेमाल नहीं करेगी।
- ओबरा पंचायत की ग्राम सभा ने सर्जिकल स्ट्राइक के खिलाफ चीन की ओर से पाकिस्तान को मदद करने के खिलाफ यह फैसला लिया है।
- भारत की ओर से पाकिस्तान पर किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के कुछ दिन बाद यह ग्राम पंचायत शनिवार को बैठी थी।
- ग्राम सभा में सर्वसम्मति से फैसला लिया गया की पंचायत के तहत तमाम गांव में चाइनीस वस्तुओं के खरीदने और बेचने पर पाबंदी लगा दी जाए।
-- ग्राम पंचायत ने अपने फैसले में यह भी कहा अगर कोई व्यक्ति इस आदेश की अवहेलना करेगा तो उसके ऊपर जुर्माना भी लगाया जाएगा।
चीन की अर्थ व्यस्था पर पड़ेगा असर
- ग्राम सभा ने इस फैसले के पीछे मुख्य उद्देश्य चीन की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ना है।
- इस बात की जानकारी ओबरा पंचायत की ग्राम प्रमुख गुड़िया देवी ने इस बात की जानकारी दी।
- ग्राम सभा में फैसला लिया गया कि जिस तरीके से चीन लगातार पाकिस्तान की मदद करता है इससे यहां के लोग काफी नाराज हैं।
- इससे आक्रोशित लोगों ने यह फैसला लिया है।
- अब ओबरा पंचायत में चीनी वस्तुओं की खरीद बिक्री नहीं होंगी।
खबरें और भी हैं...