पटना

--Advertisement--

मिल्की मिल्की

मिल्की मिल्की

Dainik Bhaskar

Feb 17, 2017, 05:38 PM IST
पटना रेलवे स्टेशन पर पुलिस शहा पटना रेलवे स्टेशन पर पुलिस शहा
पटना. सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर पर RJD के पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन को सीवान से तिहाड़ जेल में शिफ्ट किया जा रहा है। इसके लिए शुक्रवार रात 3 बजे उसे सीवान जेल से निकाला गया। सुबह 6 बजे पटना के बेऊर जेल में लाया गया। शनिवार शाम बिहार पुलिस के 20 जवान उसे संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस से दिल्ली लेकर गए हैं। उसे स्लीपर कोच की एस- 2 बोगी से ले जाया जा रहा है। जेल में शहाबुद्दीन से मिले कई दबंग...
- सूत्रों के मुताबिक, पटना जेल में बंद बाहुबली विधायक अनंत सिंह, रीत लाल यादव समेत कई लोगों ने शहाबुद्दीन से मुलाकात की। उसके कई समर्थक भी पटना पहुंचे हैं। इसे देखते हुए जेल की सुरक्षा बढ़ाई गई है।
- शहाबुद्दीन को कड़ी सुरक्षा में सीवान से पटना जेल लाया गया। दिल्ली शिफ्ट करने की खबर मिलते ही उनके समर्थकों की भीड़ सीवान जेल के पास जमा होने लगी थी। समर्थकों और पुलिस के बीच सारण जिले के नयागांव में झड़प भी हुई।
पीड़ितों की अपील पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया फैसला
- सुप्रीम कोर्ट ने चंदा बाबू (तेजाब कांड में मारे गए तीन बेटों के पिता) और आशा रंजन (पत्रकार राजदेव रंजन की विधवा) की अपील की सुनवाई के बाद शहाबुद्दीन को दिल्ली भेजने का आदेश दिया है।
- बाहुबली नेता के खिलाफ 45 मामले लंबित हैं। इनमें से 9 मामले हत्या के हैं। इसके अलावा अपहरण, हत्या के प्रयास जैसे गंभीर मामले भी हैं। कोर्ट ने कुल 10 मामलों में शहाबुद्दीन को दोषी करार दिया है।
सुप्रीम कोर्ट ने कैंसल की थी जमानत
- 7 सितंबर, 2016 को पटना हाईकोर्ट ने तेजाब हत्याकांड के गवाह राजेश रोशन की हत्या की साजिश के आरोप में शहाबुद्दीन को जमानत दी थी।
- इसके बाद चंदा बाबू और आशा रंजन ने सुप्रीम कोर्ट में जमानत रद्द करने की याचिका दायर की थी। बिहार सरकार भी इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट गई थी।
- इस याचिका पर सुनवाई करते हुई सुप्रीम कोर्ट ने 30 सितंबर को शहाबुद्दीन की जमानत रद्द कर दी थी।
- इसके बाद शहाबुद्दीन ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। फिर उसे सीवान जेल में रखा गया था।
X
पटना रेलवे स्टेशन पर पुलिस शहापटना रेलवे स्टेशन पर पुलिस शहा
Click to listen..