• Hindi News
  • Union Territory
  • Chandigarh
  • News
  • रामपाल के चौंकाने वाले तहखाने और महिला टॉयलेट्स में सीसीटीवी कैमरे की कहानी
विज्ञापन

रामपाल के चौंकाने वाले तहखाने और महिला टॉयलेट्स में सीसीटीवी कैमरे की कहानी

Dainik Bhaskar

Nov 20, 2015, 10:09 AM IST

रामपाल के चौंकाने वाले तहखाने और महिला टॉयलेट्स में सीसीटीवी कैमरे की कहानी

रामपाल के चौंकाने वाले तहखाने और महिला टॉयलेट्स में सीसीटीवी कैमरे की कहानी
  • comment
चंडीगढ़. संत रामपाल की बाबा बनने की कहानी जितनी दिलचस्प है। उतनी है उनकी गिरफ्तारी के बाद तहखानों से मिली सामग्री भी। जी हां, पिछले साल 20 नवंबर को हत्या के आरोप में रामपाल की गिरफ्तारी के बाद जब सतलोक आश्रम में सर्च अभियान चलाया गया था तो वहां से करोड़ों रुपए की खाद सामग्री मिली थी। जैसे, 7000 किलो देसी घी, 99 कार्टून सरसों का तेल, 186 कार्टून पारले बिस्कुट, 45 कैन सोयाबीन रिफाइंड तेल, 154 कट्टे मिल्क पाउडर, 600 कट्टे आटा और 600 कट्टे चीनी आदि । तलाशी के दौरान पुलिस को कई चौंकाने वाली चीजों का पता चला था। रामपाल का आश्रम किसी फाइव स्टार होटल से कम नहीं था। इसके अंदर स्विमिंग पूल, एलईडी टीवी से लेकर अस्पताल तक थे। dainikbhaskar.com एक साल बाद आपको स्पेशल सीरीज के तहत अपनी इस पांचवीं और अंतिम खबर में संत रामपाल की गिरफ्तारी और आश्रम से जुड़े कुछ खास बातों से रूबरू करा रहा है।

कैमरे का मुंह भी टॉयलेट के अंदर की ओर था...

सर्च के दौरान देशद्रोह व हत्‍या के आरोपी कबीरपंथी बाबा रामपाल के बरवाला (हिसार, हरियाणा) स्थित सतलोक आश्रम में महिला टॉयलेट में सीसीटीवी कैमरा लगा था। इतना ही नहीं, कैमरे का मुंह भी टॉयलेट के अंदर की ओर था। रामपाल खुद सिंहासन पर बैठता था और लिफ्ट से मंच पर प्रकट होता था। 5 लाख रुपए का मसाजर भी उसके कमरे से मिला था। इसके अलावा, कंडोम और अश्लील साहित्य भी बरामद किया गया था।

नरबलि का भी लगा आरोप

बरवाला के सतलोक आश्रम संचालक रामपाल की मुसीबतें तब और बढ़ गई थी जब हाईकोर्ट में उनके खिलाफ नरबलि का आरोप लगाया गया था। दरअसल, जींद निवासी हरिकेश ने याचिका दायर कर कहा था कि अगस्त 2014 में उनके बेटे का शव आश्रम में मिला था। आशंका है कि उसकी बलि दी गई है, लेकिन पुलिस ने आत्महत्या का केस दर्ज किया था। जिस पर पीडि़त ने सीबीआई जांच की मांग की थी।

गिरफ्तारी से बचने फेंके थे पेट्रोल बम...

गिरफ्तारी से बचने रामपाल और उसके कमांडोज ने तरह-तरह के हथकंडे अपनाए थे, लेकिन बच नहीं पाए। गिरफ्तारी से पहले आश्रम के बाहर हिंसा भड़क उठी थी और रामपाल को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस को समर्थकों व कमांडोज ने फायरिंग कर बाहर ही रोक दिया था। करीब 90 राउंड फायरिंग की गई थी और पेट्रोल बम भी फेंके गए थे। इस हिंसा में लगभग 75 पुलिस कर्मी और 200 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए थे। इतना ही नहीं, पांच महिलाओं की मौत का दावा भी किया गया था।

आगे की स्लाइड्स में देखें तस्वीरें... और जानिए रामपाल से जुड़ी कुछ और दिलचस्प बातें...

X
रामपाल के चौंकाने वाले तहखाने और महिला टॉयलेट्स में सीसीटीवी कैमरे की कहानी
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन