पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • लेफ्ट सिखाता है कि हिंदु बुरे हैं और मुस्लिम अच्छे, कांग्रेस के जमाने में भयंकर असहिष्णुता थी: पी

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लेफ्ट सिखाता है कि हिंदु बुरे हैं और मुस्लिम अच्छे, कांग्रेस के जमाने में भयंकर असहिष्णुता थी: पीयूष मिश्रा

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चंडीगढ़. देश में इन्टॉलरेंस पर जारी बहस के बीच एक्टर पीयूष मिश्रा ने कहा है कि ये सब बकवास है। गुरुवार को dainikbhaskar.com से बातचीत में उन्होंने कहा, "कांग्रेस के जमाने में भयंकर इन्टॉलरेंस रहा है। 60 साल से हिंदू-मुस्लिम को लड़वा रहे हैं। लेफ्ट सिखाता है कि हिंदू बुरे हैं और मुस्लिम अच्छे।"
पीयूष मिश्रा ने और क्या कहा?
- (गजेंद्र चौहान की नियुक्ति से जुड़ा) पुणे एफटीआईआई विवाद बिलकुल सही है। मैंने सबसे पहले इसका विरोध किया था। लोगों का विरोध जायज है। मैं भी इसके सपोर्ट में हूं, लेकिन अवॉर्ड वापसी की बात बकवास है।
- एक्टर ने कहा - इन्टॉलरेंस पहले नहीं था क्या? पहले भी था। ये एकदम से कहां से आ गया?
- कश्मीरी पंडितों पर अत्याचार किया। तब कहां थे? तब अवाॅर्ड क्यों नहीं लौटाया?
- हमारे अंदर कभी भेद नहीं रहा, हिंदू-मुस्लिम का। मेरे सैकड़ों दोस्त मुस्लिम हैं। भारत में भी और पाकिस्तान में भी।
- मैंने 1990 में लेफ्ट ज्वाइन किया था। लेफ्ट सिखाता है कि हिंदू बुरे हैं और मुस्लिम अच्छे। अरे! कहां से हिंदू खराब हैं।
- जब बाबरी मस्जिद गिराई गई तो मैंने विरोध किया था। कई नाटक मंचित किए। नाॅर्थ इंडिया में मैंने तहलका मचा दिया था।
- तब मुझे ये नहीं बताया गया था कि तीन साल पहले कश्मीरी पंडितों पर अत्याचार किया गया था। माइक लेकर चिल्लाते थे कि 24 घंटे में कश्मीर खाली कर दो। वो लेफ्ट को याद नहीं रहा। मैं मानता हूं कि 90 के दशक के दौरान ही मैंने राजनीति को समझा। उसके पहले मैं बहुत भोला-भाला बंदा था।
'60 साल से फैले रायते को समेटने में पांच साल तो लगेंगे'
- पीयूष ने कहा- 60 साल से फैले रायते को समेटने में पांच साल तो लगेंगे।
- मैं मोदी समर्थक नहीं हूं। हालांकि, मुझ पर इल्जाम लगे हैं कि मैं मोदी समर्थक हूं। लेकिन चलो छोड़ो मोदी नहीं। फिर कौन? आरोप किस पर नहीं है? राहुल या सोनिया जी पर कम आरोप हैं?
- हमारे देश में अजीब तरीके से लोग पक्ष लेते हैं। मैंने अभी बोलना शुरू किया कि मैं हिंदू हूं। मुस्लिम खुद को गर्व से कहता है कि मैं मुस्लिम हूं। पारसी गर्व से कहता है कि मैं पारसी हूं। तो मैं क्यों नहीं? मैं भी कहूंगा कि मैं हिंदू हूं।
आमिर के बयान पर क्या कहा?
- पीयूष ने कहा- आमिर को ऐसा नहीं बोलना चाहिए था। हमारा देश बहुत सहिष्णु है।
- शाहरुख, सलमान, आमिर सारे के सारे यहीं से बने हैं। अगर यहां पर असहनशीलता होती तो क्या 'पीके' हिट होती? वो तो पूरी तरह से हिंदुओं के खिलाफ है। लेकिन हिट हुई।
- आरएसएस की तुलना आईएसआई से करना तो बेवकूफी है। आईएसआई वाले तो गला काट रहे हैं। आरएसएस से मैंने कई अच्छे बातें सीखीं, लेकिन उनके साथ एक दिक्कत हैं कि वे एंटी मुस्लिम हैं।
वरना कौन है? राहुल गांधी को बनाओगे?
- पीयूष ने कहा- मैंने अब बोलना शुरू किया। पहले मुझे लगता था कि मेरे दोस्त मुझे कट्टरपंथी बोलेंगे, लेकिन बोलना है तो बोले, कौन परवाह करता है?
- अरुंधति राय बोलती हैं कि कश्मीर पाकिस्तान को दे देना चाहिए। क्यों दे देना चाहिए? कम से कम इस सरकार को पांच साल तो दो। वरना कौन है? राहुल गांधी को बनाओगे?
- मैं तो बोलता हूं कि कांग्रेस में एक बंदा है सचिन पायलट। राजनेता बनने के सारे गुण हैं उसमें। मैं सचिन का सपोर्ट करूंगा। अगर आप गांधी फैमिली से बाहर नहीं निकलना चाहते तो आपको कब तक ढोएंगे। सीताराम केसरी को ये लेकर तब आए, जब गांधी फैमिली के पास कोई गांधी नाम का लीडर नहीं था।
क्यों चंडीगढ़ आए हैं पीयूष?
- पीयूष मिश्रा इन दिनों चंडीगढ़ में फिल्म 'हैप्पी भाग जाएगी' की शूटिंग में व्यस्त हैं।
- उन्होंने बताया कि उनकी किताब (कुछ इश्क किया, कुछ काम किया) रिलीज हुई है। 20 तारीख को फिर गुड़गांव में दोबारा रिलीज होगी। ये किताब मेरी जिंदगी में बहुत अहम है और इसका सिनेमा और थिएटर से कोई लेना-देना नहीं है।
आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

और पढ़ें