• Hindi News
  • पत्नी को कहा दो साल नहीं करना डिस्टर्ब

पत्नी को कहा दो साल नहीं करना डिस्टर्ब

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़। आठ वर्क पहले कर चुका हूं। बहुत पैसा कमाया। लेकिन संतुष्टि नहीं मिलती थी। लगता ही नहीं था कि कोई काम हो रहा है। इसलिए अपनी पत्नी से कह दिया कि दो साल डिस्टर्ब नहीं करना। जयपुर से आए प्रदीप वर्मा ऐसे ही करते हैं अपने नौवें वर्क की बात। पंजाब यूनिवर्सिटी में ग्रुप शो एग्जिबिशन के लिए आए प्रदीप अपनी पत्नी मधु को अपने इस काम का क्रेडिट देते हैं।

उन्होंने बुद्ध के शांत और मुस्कुराते हुए स्वरूप को पेश किया है। प्रदीप अपने वर्क के चुनिंदा पांच पीस लेकर आए हैं। एक पीस में भगवान बुद्ध प्रकृति यानि पत्तों के बीच मगन नजर आते हैं तो दूसरे में काफी ब्राइट कलर्स का उपयोग है। आमतौर पर स्टील ग्रे या डार्क ग्रे कलर का चुनाव करने वाले प्रदीप वर्मा ने इस बार अपनी पेंटिंग्स में प्रयोग किए हैं। फिरोजी और पीले रंग के साथ व्हाइट और ब्लू जैसे कंबिनेशन कुछ अलग लुक देते हैं। प्रकृति और बुद्ध को देख मन-आत्मा तक शांति का अहसास होता है। यही शांति प्रदीप को भी बुद्ध से मिली।

प्रदीप बताते हैं कि वह अब तक आठ अलग-अलग विषयों पर काम कर चुके हैं। लेकिन चित्त खुश नहीं होता था। ऐसे में संतुष्टि की तलाश की। एक दिन पत्नी मधु को सारा धन और अकाउंट सौंप दिए। उनसे कहा कि अगले दो साल के लिए तुम्हारा गुजारा हो जाएगा। मुझसे ना पूछना कि मैं कहां हूं और क्या कर रहा हूं। घर की कोई जिम्मेदारी नहीं। उन्होंने पूरा साथ दिया। घूमते-घाम ते मन में सोचा कि आध्यात्मिकता को विषय बनाऊं। बुद्ध ने मुझे शांति दी और उसी को मैने कला का विषय बनाया। इस काम के लिए उन्होंने चार महीने लगाए।