पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • हरियाणा में हंगामा, कर्मी की मौत, सरकारी गाडिय़ां तोड़ी, पूरे प्रदेश में चक्का जाम

हरियाणा में हंगामा, कर्मी की मौत, सरकारी गाडिय़ां तोड़ी, पूरे प्रदेश में चक्का जाम

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़। कर्मचारी की हड़ताल के चलते झड़प में अंबाला में एक रोडवेज कर्मी की मौत के बाद राज्य सरकार ने सतर्कता के ज्यादा निर्देश दिए हैं। पूरे प्रदेश में रोडवेज चक्काजाम एवं तनावपूर्ण हालात हैं। अतिरिक्त पुलिस फोर्स तैनात की गई है। ट्रेड यूनियन ने पूरे भारत में 2 दिन के लिए हड़ताल का आहवान किया जिसको सफल बनाने के लिए हरियाणा रोडवेज के कर्मचारी देर रात ही अंबाला वर्कशाप के बाहर डट गये जैसे सुबह के 4 बजे प्रशासन बसे निकलवाने के लिए आन खड़ा हुआ , कर्मचारियों ने नारेबाजी कर बसों को रोकना चाहा लेकिन इस जद्दोजहद में बस और पील्लर के बीच में फंसने से रोडवेज कर्मचारी की मौत हो गयी। कर्मचारी काफी देर तक तड़पता रहा लेकिन उसकी मदद के लिए कोई नहीं आया।


नतीजतन अस्‍पताल ले जाते वक्त कर्मचारी की मौत हो गयी इसके बाद कर्मचारियों का प्रदर्शन उग्र हो गया और पूरे प्रशासन को एक कमरे में घेर लिया गया। डीसीपी अंबाला, एसीपी सीटी मजिस्ट्रेट और रोडवेज जीएमजान बचा कर भागे लेकिन गुस्साए कर्मचारियों ने रोडवेज डिपो दफ्तर डीसीपी अंबाला की गाड़ी और एसएचओ की गाड़ी भी तोड़ डाली। इस दौरान अंबाला पुलिस मूक दर्शक बनने के अलावा कुछ न कर सकी। रोडवेज कर्मचारी नरेंद्र सिंह 20 मिनट तक तड़पता रहा लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की एसीपी अंबाला फोन पर लगे लेकिन किसी पुलिस वाले ने मदद हनी की तो कर्मचारी खुद ही नरेंद्र सिंह को अस्‍पताल ले गये। जहां रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। रोडवेज कर्मचारी अभी भी मोर्चा संभाले हैं और प्रशासनिक अधिकारियों व आरोपी ड्राइवर के खिलाफ कार्यवाही की मांग पर अड़े हैं।


इधर, यह खबर जैसे ही प्रदेश में फैली बसों का पूरी तरह चक्काजाम हो गया है। हड़ताल का असर बढ़ गया। मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने शांति व्यवस्था की अपील की है। डीजीपी एसएन वशिष्ठ ने सभी पुलिस अफसरों से कानून व्यवस्था की जानकारी ली। रोडवेज की इस स्ट्राइक से आम जनता भी खासी परेशान है क्यूंकि स्ट्राइक के चलते कोई भी बस रोड पर नहीं हैं। लोगो का कहना है की उन्हें नहीं पता था की आज हड़ताल है अब उन्हें काम पर पहुंचने में दिक्कत आएगी।