पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • मोनिका की हत्या आरोपी ससुरालियों पर आरोप तय

मोनिका की हत्या आरोपी ससुरालियों पर आरोप तय

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़। सेक्टर-18 स्कूल की टीचर मोनिका की हत्या के मामले में बुधवार को आरोपी ससुराल पक्ष के खिलाफ डिस्ट्रिक्ट एवं सेशंस जज एसके अग्रवाल की अदालत में आरोप तय हो गए। जिनके खिलाफ आरोप तय किए गए हैं उनमें मोनिका के पति पति विकास, सास प्रेम लता, ससुर ज्ञान प्रकाश गोयल और देवर विशाल गोयल के नाम शामिल हैं। इनके खिलाफ 302 (34) हत्या में एक अधिक लोगों के शामिल होने और आत्म हत्या के लिए उकसाने के तहत आरोप तय किए गए हैं। अदालत ने मामले में आगामी सुनवाई के लिए 15 मार्च की तारीख तय की है।


मामले में मंगलवार को अदालत में आरोप तय होने को लेकर बहस हुई थी बहस के दौरान बचाव पक्ष के वकील ने कहा की मोनिका ने फंदा लगाकर आत्महत्या की है। जिस कारण पकड़े गए लोगों पर धारा 302 नही लगाई जा सकती है। इसके लिए उनके ससुराल पक्ष के लोगों पर धारा 306 लगाई जानी चाहिए थी। दूसरे पक्ष के वकील ने इसे नकारते हुए कहा की सीएफएसएल रिर्पोट और अन्य पहलुओं को दे देखा जाए तो साफ तौर पर उनके खिलाफ का मामला बनता है। जिस कारण उनके ऊपर लगाई गई धारा 302 वाजिफ है।


क्या था मामला:
बीते वर्ष 15 अक्टूबर को सुबह करीब 9.30 बजे मोनिका के पति विकास ने पुलिस को सूचना दी कि मोनिका ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है। जिसके बाद मोनिका के परिजनों ने आरोप लगाया था कि मोनिका की हत्या की गई है व उन्होंने थाने का घेराव किया और उसी दिन देर शाम पुलिस ने मोनिका के पति विकास, ससुर प्रेम लता, ससुर ज्ञान प्रकाश गोयल के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज कर तीनों को गिरफ्तार कर लिया था।


मौत के दो दिन बाद पुलिस ने मोनिका के घर से एक चादर बरामद की थी। जिस पर मोनिका का खून लगा था, परंतु ससुरालियों ने उसे पुलिस के पहुंचने से पहले ही धो दी थी। पुलिस ने मोनिका के देवर विशाल को भी गिरफ्तार कर लिया था। मोनिका की पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के मुताबिक उसकी मौत फंदा लगाने से हुई, परंतु साथ ही पोस्ट मार्टम रिपोर्ट में सिर पर चोट लगने की भी पुष्टि हुई थी। इसके बाद पुलिस ने कुछ दिन पहले मोनिका के घर पर चोरी हुई और उस समय भी पुलिस को मोनिका के खून से लथपथ कुछ कपड़े बरामद हुए थे।