पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • ओमान जेल में नहीं है जसपाल

ओमान जेल में नहीं है जसपाल

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़। वर्ष 1971 में भारत पाकिस्तान युद्ध के दौरान 15 पंजाब रेजीमेंट के जासूस जसपाल सिंह के ओमान जेल में होने की संभावनाओं को केंद्र सरकार ने सिरे से नकार दिया है। सरकार ने इस बारे में पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में जवाब दायर कर कहा कि जसपाल सिंह ओमान जेल में नहीं है। इसके बाद इस बारे में दाखिल जनहित याचिका का चीफ जस्टिस एके सीकरी व जस्टिस आरके जैन की खंडपीठ ने निपटारा कर दिया।


हाईकोर्ट के वकील हरि सिंह नागरा की तरफ से दाखिल याचिका में कहा गया कि वर्ष 1971 में भारत पाकिस्तान युद्ध के दौरान फतेहगढ़ साहिब के गांव पमौर निवासी जासूस जसपाल सिंह को मृत घोषित कर दिया गया था। कहा गया था कि जसपाल सिंह व 5 अन्यों को 4 दिसंबर 1971 को हुसैनी वाला बार्डर पर पाकिस्तान ने पकड़ लिया था। मीडिया रिपोर्ट के हवाले से याचिका में कहा गया कि जसपाल सिंह ओमान स्थित मासीरा आईलैंड जेल में बंद है।

जसपाल 41 साल से जेल में है। इस बात की जानकारी ओमान की जेल से भारत लौटे सुखदेव सिंह ने मीडिया को दी। सुखदेव सिंह ओमान की जेल में लकड़ी का काम करता था। याचिका में कहा गया कि जसपाल सिंह को जेल में अवैध ढंग से रखा गया है। ऐसे में भारत सरकार उसे रिहा कराए। साथ ही जसपाल के परिवार को सभी सेवा लाभ दिए जाएं।