पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • पंजाबी म्यूजिक में एक और एंट्री

पंजाबी म्यूजिक में एक और एंट्री

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक


चंडीगढ़। उम्र पूछी तो बोले ट्वेंटी प्लस। पढ़ाई करने ये गए थे स्वीडन और वहीं सेटल हो गए। शुरू किया रेस्त्रां बिजनेस। पर अब लगा कि बचपन के शौक को प्रफेशन में बदला जाए, इसलिए ले आए नई पंजाबी म्यूजिक एल्बम 'नही सरदा। ये हैं जे काहलों जो ताल्लुक रखते हैं पंजाब के बस्सी पठाना इलाके से और गुरदास मान को मानते हैं अपना उस्ताद। मंगलवार को ये एल्बम लॉन्च करने काहलों पहुंचे सेक्टर-27 के चंडीगढ़ प्रेस क्लब में।
एल्बम में कुल आठ ट्रैक हैं जिनमें फोक, रामैंटिक और सैड सॉन्ग शामिल हैं। म्यूजिक कंपोज किया है प्रेकी बी ने और बोल लिखे हैं गिद्दड़बाहा गांव के पाली और जानी ने। काहलों बताते हैं, 'गुरदास मान साहब भी गिद्दड़बाहा के हैं और मेरे लिरिसिस्ट भी। इसलिए गानों के एक-एक शब्द को मोतियों की तरह पिरोया है।Ó स्वीडन में काहलों एक पंजाबी रेस्त्रां चलाते हैं जिसका बिजनेस अच्छा है। वह इसे अपने बड़े भाई के साथ संभालते हैं। उनका मानना है कि स्वीडन में भी पंजाबी म्यूजिक को पसंद करने वाले कई लोग हैं। उन्होंने कहा, 'यारों-दोस्तों ने कहा कि स्टेज परफॉर्मेंस तो बहुत हो गई, अब एल्बम निकालने में देरी न कर। बस इसीलिए एल्बम निकाल दी। बहुत जल्द अगली एल्बम भी लेकर आऊंगा जिसमें मेरे साथ पंजाबी रैपर बादशाह होंगे।Ó एल्बम के दो गानों की वीडियो भी तैयार की गई है जिन्हें स्वीडन में ही शूट किया गया है।
कोट
अपना बिजनेस है इसलिए गाना-बजाना आराम से साथ में हो जाता है। सरकारी नौकरी होती तो शायद इतनी छुट्टियां नहीं मिलती। अब कुछ महीने यहां रहूंगा, कुछ देर स्वीडन में ताकि दोनों काम होते रहें।