पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • रेल बजट में हिमाचल को तोहफा, रेलवे लाइन का होगा सर्वेक्षण

रेल बजट में हिमाचल को तोहफा, रेलवे लाइन का होगा सर्वेक्षण

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक



धर्मशाला। लोकसभा में पहली बार रेल बजट पेश कर रहे केंद्रीय रेल मंत्री पवन बंसल ने अपने भाषण में धर्मशाला-पालमपुर और नादौन के रास्ते अंब-कांगड़ा में नई रेलवे लाइन बिछाने के लिए सर्वेक्षण की घोषणा की है। वहीं प्रदेश को जोडऩे वाले कालका से साई नगर शिरडी के लिए नई एक्सप्रेस सप्ताह में दो दिन और ऊना/नंगल डैम हजूर साहेब नांदेड़ नई एक्सप्रेस साप्ताहिक आरंभ करने की घोषणा की है। रेल बजट में पहली बार जिला कांगड़ा को तवज्जो मिली है। प्रदेश में दो नई रेलवे लाइनों के लिए सर्वेक्षण और दो नई एक्सप्रेस रेलगाडिय़ां आरंभ करने की केंद्रीय रेल मंत्री की घोषणा से प्रदेशवासियों में खुशी की लहर है।
प्रदेश को जोड़ेंगी दो नई एक्सप्रेस
केंद्रीय मंत्री रेल मंत्री ने रेल बजट में कालका-साई नगर शिरडी एक्सप्रेस (सप्ताह में दो दिन) वाया हजरत निजामुद्दीन भोपाल इटारसी, ऊना/नंगल डैम हजूर साहेब नांदड़ा एक्सप्रेस (साप्ताहिक) वाया आनंदपुर साहिब, मोरिंडा, चंडीगढ़, अंबाला शुरू करने की घोषणा की है। वहीं प्रदेश के सबसे बड़े जिला कांगड़ा में धर्मशाला-पालमपुर तथा नादौन के रास्ते अंब-कांगड़ा में नई रेलवे लाइन बिछाने के लिए सर्वेक्षण की घोषणा की है।
यात्रियों व पर्यटकों को होगा लाभ
प्रदेश को जोडऩे वाली रेलवे लाइनों पर दो नई एक्सप्रेस रेलगाडिय़ों के आरंभ होने से यात्रियों व पर्यटकों को लाभ मिलेगा, वहीं जिला कांगड़ा में धर्मशाला-पालमपुर और नादौन के रास्ते अंब-कांगड़ा सर्वेक्षण के बाद रेलवे लाइन बिछने से कांगड़ा घाटी में पर्यटन गतिविधियों में इजाफा होने के साथ धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।
रेल बजट में पहली बार कांगड़ा को तवज्जो, कांग्रेस नेताओं ने वीरभद्र व सुधीर को दिया श्रेय
रेल बजट में पहली बार कांगड़ा को तरजीह मिलने पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता रामस्वरूप शर्मा सहित अन्य कांग्रेस नेताओं ने इसका श्रेय मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा को दिया है। रामस्वरूप शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री और शहरी विकास मंत्री के सतत प्रयासों से पहली बार धर्मशाला-पालमपुर और नादौन के रास्ते अंब-कांगड़ा रेलवे लाइनों के लिए सर्वेक्षण की घोषणा रेल बजट में की गई है। उन्होंने कहा कि सर्वेक्षण कार्य पूरा होने के बाद धर्मशाला-पालमपुर तथा नादौन के रास्ते अंब-कांगड़ा रेलवे लाइनों की स्थापना से जिला कांगड़ा में पर्यटन गतिविधियों में इजाफा होगा तथा देवी दर्शनों को आने वाले श्रद्धालुओं की जिला कांगड़ा में आमद में भी इजाफा होगा।
केंद्रीय रेल मंत्री द्वारा प्रस्तुत रेल बजट निराशाजनक है। रेल बजट में हिमाचल की फिर से अनदेखी हुई है। हिमाचल की कठिन भौगोलिक परिस्थितियों के चलते इस मर्तबा प्रदेशवासियों को रेल बजट से काफी आशाएं थी, लेकिन बजट में प्रदेश की अनदेखी हुई है। रेल बजट में हिमाचल की अनदेखी के मामले को लोकसभा में जोर-शोर से उठाया जाएगा।
.. डा. राजन सुशांत, सांसद, कांगड़ा संसदीय क्षेत्र