पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • चंडीगढ़ के सन्नी ने दिखाया रफ्तार का जादू

चंडीगढ़ के सन्नी ने दिखाया रफ्तार का जादू

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़। चंडीगढ़ के चैंपियन रैली ड्राइवर सन्नी सिद्धू ने राजस्थान में हुई डेजर्ट स्ट्रॉम रैली में दूसरा स्थान हासिल किया है। भारत की सबसे मुश्किल रैली में से एक डेजर्ट स्ट्रॉम रैली में शानदार प्रदर्शन करने के साथ ही उन्होंने एशिया पेसिफिक रैली चैंपियनशिप के लिए भी क्वालिफाई कर लिया है जो जून में शुरु होनी है। सन्नी एशिया पेसिफिक रैली की टिकट कटाने वाले चंडीगढ़ के पहले रैली ड्राइवर हैं। डेजर्ट स्ट्रॉम रैली 2220 किलोमीटर की और ये बेहद चुनौती भरी होती है। इसमें रैली ड्राइवर सदर शहर से बिकानेर होते हुए जैसलमेर आर फिर वहां से जयपुर पहुंचते हैं।



शानदार रिकॉर्ड सन्नी के नाम: सन्नी सिद्ध का इस रैली में मुकाबला बेहद कड़ा था। वैसे तो वे इसे कई बार जीत चुके हैं लेकिन इस बार उन्होंने दूसरा स्थान हासिल करके वो कीर्तिमान बनाया जिसे शायद कोई भी तोड़ न सके। सन्नी इस रैली में 109 हॉर्स पावर की गाड़ी के साथ उतरे थे जबकि दूसरे रैली ड्राइवर्स के पास 400 से 450 हॉर्स पावर की गाडिय़ां थी। बावजूद इसके उन्होंने दूसरे स्थान पर कब्जा किया। यहां उनके मुकाबले में टोयोटा हेलिक्स, निसान पैट्रोल, मित्सुबिशी पजेरो, ग्रांड विटारा जैसी दमदार गाडिय़ां थी जिन्हें सन्नी ने अपने आस-पास भी नहीं आने दिया।



स्पॉन्सर की रैली में सख्त जरूरत: पिछले कई सालों से रैली करते आ रहे सन्नी का कहना है कि रैली या मोटर स्पोटर्स में स्पॉन्सर की सख्त जरूरत होती है। आप अपने पैसे से कब तक खर्च कर सकते हो। एक रैली करवाने के लिए करीब 20 लाख रुपए का खर्च आता है, अगर आयोजकों को स्पॉन्सर ही नहीं मिलेंगे तो युवा डाइवर्स कैसे अपना हुनर दिखा पाएंगे। आज कुछ कंपनियां है जो इस रेस में आगे आई हैं, लेकिन और देशों के मुकाबले हम अभी भी काफी पीछे हैं। मैं अब ऑस्ट्रेलिया, जापान और न्यूजीलैंड रैली के लिए जा रहा हूं, ये जगह रैली ड्राइवर्स का गढ़ मानी जाती हैं और यहां सभी के पास अपने अलग स्पॉन्सर होते हैं जो उन्हें आगे लाते हैं।