पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • चौटाला पर सदन में हंगामा, 28 विधायक निलंबित

चौटाला पर सदन में हंगामा, 28 विधायक निलंबित

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक


चंडीगढ़। हरियाणा विधानसभा बजट सत्र के तीसरे दिन ओमप्रकाश चौटाला जेबीटी शिक्षक प्रकरण पर जमकर बवाल मचा। सत्ता पक्ष एवं विपक्ष के बीच जमकर नोंक-झोंक के साथ स्पीकर कुलदीप शर्मा व इनेलो विधायकों के बीच झड़प हुई। स्पीकर की चेयर के सामने वैल में नारेबाजी एवं धरने पर भी विधायक बैठ गए। दो सदन स्थगित करने एवं स्पीकर की बार-बार चेतावनी पर भी इनेलो विधायक नहीं मानें तो इनेलो के 27 एवं अकाली दल के एक विधायक को बुधवार के लिए निलंबित कर मार्शलों के सहारे सदन से बाहर कर दिया।


प्रश्नकाल तक मामला ठीक-ठाक चला लेकिन जैसे शून्यकाल शुरू हुआ हालात बिगडऩे लगे। इस उपरांत स्पीकर ने अभिभाषण पर बहस बुधवार के लिए बहस स्थगित कर कांग्रेस विधायक संपत सिंह के ओमप्रकाश चौटाला जेबीटी प्रकरण को लेकर मंजूर प्रस्ताव पर चर्चा की अनुमति दे दी। जैसे ही यह घोषणा स्पीकर ने कि इनेलो विधायक भड़क गए। रामपाल माजरा ने कहा,मामला अदालत में विचाराधीन है,इसलिए इस प्रस्ताव को नामंजूर किया जाए। माजरा ने कहा कि सरकार गोपाल कांडा जैसे प्रकरणों में अदालत में होने की बात कह कर चर्चा नामंजूर करा चुकी है। अशोक अरोड़ा,बिशन लाल सैनी,रामेश्वर दयाल भी इस पर अड़ गए।


संसदीय कार्य मंत्री रणदीप सुरजेवाल ने कहा कि कांडा का मामला ट्रायल पर था जबकि इसमें सजा हो चुकी है। इसी बीच स्पीकर ने दो बार प्रो.संपत सिंह का नाम लिया तो इनेलो विधायक विरोध करने लगे। दूसरी तरफ से सुरजेवाला के साथ कांग्रेस विधायक नरेश शर्मा, आफताब अहमद,शकुंतला खटक ने सुर मिलाया। इसी दौरान नरेश शर्मा ने विवादित टिप्पणी कर दी। इससे इनेलो के दलित विधायक भड़क गए। भारी हंगामे के बीच जैसे ही इनेलो विधायक कृष्ण पंवार ने खड़े होकर नरेश शर्मा के लिए कुछ कहने लगे तो स्पीकर शर्मा ने उनको बिठाने के लिए कुछ कह दिया। यह सुन अभय चौटाला गुस्से लाल होकर स्पीकर की चेयर के सामने वैल में चले गए। उनके पीछे सभी इनेलो विधायक पहुंच गए। काफी देर स्पीकर व चौटाला के बीच बहस हुई। स्पीकर यह कहते सुने गए कि आप दादागिरी कर रहे हैं,स्पीकर को आंख दिखाते हैं,यह नहीं चलेगा। गरिमा में रहे। कांग्रेसी विधायक भी कुर्सियों से खड़े हो गए।

दोनों तरफ से नारेबाजी शुरू हो गई। इनेलो विधायकों ने दलित विरोधी सरकार नहीं चलेगी के नारे लगाए तो कांग्रेसी चोर मचाए शोर जैसे नारे लगाने लगे। हंगामो के बीच सदन दो बार स्थगित हुआ। तीसरी बार भी हंगाम नहीं थमा। इस बीच नरेश शर्मा ने खेद व्यक्त कर दिया। कांग्रेसी की तरफ से सुरजेवाला ने माजरा,अरोड़ा व अभय चौटाला से माफी मांगने की कही। हंगामा बढ़ता ही गया। स्पीकर ने बार- बार चेताया।

कुछ देर बाद दलित विधायक रामेश्वर दयाल व स्पीकर के बीच वाद-विवाद होता रहा। वे चेयर के सामने चले गए। बाद में रामेश्वर दयाल,इलियास,कृष्ण पंवार,फूल सिंह खेड़ी,मामूराम सहित कई विधायक सदन में धरने पर बैठ गए। स्पीकर ने बार-बार चेतावनी दी लेकिन मामला शांत नहीं हुआ तो इनेलो व अकाली दल के 28 विधायकों को निलंबित कर दिया। सदन में मार्शल आ गए। निलंबित करते ही दोनों पक्षों के बीच झड़प व नारेबाजी चलती रही। मार्शल के सहारे सभी निलंबित विधायक सदन से चले गए। इनेलो विधायक स्पीकर से माफी मांगने एवं नरेश शर्मा के खिलाफ कार्यवाही की मांग करते रहे