• Hindi News
  • 14वीं विधानसभा का पहला सत्र: कमलवालों के चेहरे खिले खिले, अजय कालूखेड़ा नहीं मिले!

14वीं विधानसभा का पहला सत्र: कमलवालों के चेहरे खिले-खिले, अजय-कालूखेड़ा नहीं मिले!

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

राजनीति जो न कराए, वो ठीक! बुधवार से शुरू हुए 14वीं विधानसभा के पहले सत्र में राजनीति के कई रंग सामने आए। शिवराज की टीम के चेहरे पर जहां बम्पर जीत की चमक दिख रही थी, तो वहीं कांग्रेसियों की सूरत की रंगत उड़ी हुई थी। नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी के लिए सार्वजनिक बयानबाजी करने के बाद अजय सिंह और कालूखेड़ा ने यहां भी हाथ नहीं मिलाया!


भोपाल। मध्यप्रदेश की नवगठित चौदहवीं विधानसभा का पहला सत्र बुधवार को राष्ट्रगीत के गायन के साथ प्रारंभ हो गया। प्रोटेम स्पीकर केडी देशमुख ने कार्यवाही शुरू होते ही सभी नवनिर्वाचित विधायकों का स्वागत किया और फिर विधायकों को सदन की सदस्यता की शपथ दिलाने का कार्य प्रारंभ किया।


सबसे पहले मुख्यमंत्री एवं सदन के नेता शिवराज सिंह चौहान ने शपथ ग्रहण की। उन्होंने हिंदी भाषा में शपथ ग्रहण की। इसके बाद वरिष्ठ मंत्री बाबूलाल गौर ने संस्कृत भाषा में शपथ ली। कैलाश विजयवर्गीय ने भी संस्कृत भाषा में शपथ ली।


जो सदस्य बुधवार को शपथ नहीं ले पाएंगे, उन्हें गुरुवार को शपथ दिलाई जाएगी। विधानसभा में 230 सीटें हैं। केडी देशमुख प्रोटेम स्पीकर के रूप में पहले ही शपथ ले चुके हैं, जबकि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विदिशा सीट से त्यागपत्र दे दिया है। वह बुधनी से भी चुनाव जीते थे और नियमों के अनुरूप वह एक ही सीट का प्रतिनिधित्व कर सकते हैं।

कहीं खुशी, कहीं गम...
सत्र के पहले दिन जहां सत्तारूढ़ दल भाजपा के सदस्य उत्साह के साथ एक-दूसरे को बधाई देते हुए दिखाई दिए, वहीं चुनाव में शर्मनाक हार का सामना करने वाली कांग्रेस के सदस्य उत्साहविहीन नजर आए। कांग्रेस की ओर से आपसी खींचतान के कारण अभी तक नेता प्रतिपक्ष का चयन भी नहीं हो पाया है। पिछली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष का दायित्व निभाने वाले अजय सिंह और पूर्व मंत्री महेंद्र सिंह कालूखेड़ा के बीच हाल में इस पद को लेकर सार्वजनिक तौर पर हुई बयानबाजी का असर दोनों के बीच सदन में भी दिखाई दिया।


दोनों सदस्य विपक्ष के लिए निर्धारित स्थान पर आजू-बाजू में बैठे लेकिन एक-दूसरे से बात नहीं की। उनके बीच असहजता का भाव साफ तौर पर दिखाई दे रहा था। उनके बीच की दूरी सभी के बीच चर्चा का केंद्र रही।


गुरुवार की स्क्रिप्ट....

सदन में गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव होने के साथ ही राज्यपाल का अभिभाषण होगा। अध्यक्ष पद के लिए वरिष्ठ भाजपा विधायक डॉ सीताशरण शर्मा का नाम तय माना जा रहा है। जनवरी तक प्रस्तावित सत्र के दौरान वित्त वर्ष 2013-14 के लिए अनुपूरक बजट पारित करने के साथ ही अन्य सरकारी कामकाज भी निपटाए जाएंगे।

तस्वीरों में देखें विधानसभा सत्र का पहला दिन...
फोटो : सतीश टेवरे