पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • बीएड कॉलेज संचालकों को सत्र जीरो ईयर होने का डर

बीएड कॉलेज संचालकों को सत्र जीरो ईयर होने का डर

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल। प्रदेश के बीएड कोर्स संचालित करने वाले कॉलेजों पर अगला सत्र जीरो ईयर होने का खतरा मंडरा रहा है। नेशनल काउंसिल ऑफ टीचर्स एजुकेशन (एनसीटीई) और उच्च शिक्षा विभाग द्वारा इन कॉलेजों का निरीक्षण किए जाने की खबर ने कॉलेजों के साथ ही छात्रों की परेशानी बढ़ा दी है।

कॉलेज संचालकों को आशंका है कि एनसीटीई और शासन की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने पर यह सत्र जीरो ईयर घोषित किया जा सकता है। इस बीच एनसीटीई से निरीक्षण का सर्कुलर मिलने के बाद कॉलेजों ने प्रेक्टिस ट्रेनिंग पर गए सभी छात्रों को वापस बुला लिया है।

एनसीटीई 16 नवंबर से भोपाल संभाग के कॉलेजों का निरीक्षण करेगी। हाईकोर्ट के आदेश के पालन में यह कार्रवाई प्रदेश के सभी 516 बीएड कोर्स संचालित कॉलेजों में की जाएगी। इस बीच उच्च शिक्षा विभाग भी बीएड सहित अन्य सभी ट्रेडिशनल कोर्स संचालित कॉलेजों के निरीक्षण की प्रक्रिया भी जल्द ही शुरू करने जा रहा है।

पहले भी हो चुका है जीरो इयर
वर्ष 2008 में भी एनसीटीई और उच्च शिक्षा विभाग द्वारा किए गए बीएड कॉलेजों के निरीक्षण में दोनों की रिपोर्ट अलग-अलग आने के कारण बीएड का सत्र 2008-09 जीरो घोषित करना पड़ गया था। निजी बीएड कॉलेजों के संगठन प्रादेशिक शिक्षा महाविद्यालयीन प्रबंधन संघ के महासचिव एके उपाध्याय का कहना है कि कॉलेज निरीक्षण के लिए तैयार है लेकिन शासन को इस बात का ख्याल रखना होगा कि इसका असर शैक्षणिक सत्र और परीक्षा पर न पड़े।
अगर आपके पास भी है कोई जानकारी/खबर या फोटो तो हमें वॉट्सऐप नंबर 8462002585 पर शेयर करें अथवा मेल करें bplhyper@gmail.com।