बालाघाट स्थित पटाखा फैक्ट्री में लगी आग / बालाघाट स्थित पटाखा फैक्ट्री में लगी आग

बालाघाट स्थित पटाखा फैक्ट्री में लगी आग

Jun 07, 2017, 06:56 PM IST
किसी को भागने का मौका नहीं मिल किसी को भागने का मौका नहीं मिल
भोपाल। मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले में बुधवार दोपहर एक अवैध पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट होने से दो दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। हादसे की जानकारी विस्फोट में झुलसी एक महिला ने जैसे-तैसे भागकर गांव पहुंचकर दी। जब लोग घटनास्थल पर पहुंचे, तो वहां अधजली लाशें और दूर-दूर तक बिखरे सिर-हाथ, पैर देखकर उनके रौंगटे खड़े हो गए। 22 लोगों ने घटना वाले दिन ही, जबकि अन्य 3 लोगों ने गुरुवार को अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इस तरह से मरने वालों की संख्या 25 हो गई है। जानें पूरा मामला...
-लोगों से मिली जानकारी के अनुसार फैक्ट्री में काम करने वाली रेखा जली हुई हालत में मदद मांगने के लिए गांव पहुंची थी।
-गांव पहुंचकर रेखा ने फैक्ट्री में आग लगने की सूचना दी थी।
-रेखा से मिली जानकारी के बाद सैकड़ों ग्रामीण और प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर राहत कार्य शुरू किया।
दोपहर 3 बजे हुआ हादसा
पुलिस के अनुसार, लाइसेंस लेकर एक झोपड़ीनुमा परिसर में चल रही फैक्ट्री में बुधवार दोपहर करीब तीन बजे धमाका हुआ। यह इतना जोरदार था कि दो किमी दूर तक आवाज सुनाई दी। सूचना पर कलेक्टर भरत यादव और एसपी अमित सांघी भी मौके पर पहुंचे। इससे पहले वर्ष 2015 में भी जिले के किरनापुर में पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट हुआ था। इसमें तीन श्रमिकों की मौत हो गई थी।
500 मीटर तक बिखरे पड़े थे शव, पहचान करने में आ रही थी मुश्किल
ग्रामीणों ने बताया कि धमाके के बाद शव आसपास के 500 मीटर के क्षेत्र में बिखर गए थे। हालात इतने भयावह थे कि शवों की पहचान भी मुश्किल हो रही थी। फैक्ट्री में अधिकतर महिलाएं ही काम कर रही थीं। मौके के हालात देखकर ग्रामीण बदहवास हो गए। दमकल वाहन और पुलिस बल के साथ ग्रामीणों ने मिलकर आग को काबू किया इसके बाद शवों को निकाला। शव के अंग भंग हो जाने से मृतकों की सही संख्या का पता देर रात तक नहीं चल सका है। वहीं प्रशासन फैक्ट्री में काम करने वालों के नाम पता करने में जुटा रहा।
फैक्ट्री में थे 47 मजदूर, इनमें ज्यादातर महिलाएं
झोपड़ी में चलाई जा रही इस फैक्ट्री में हादसे के वक्त 47 मजदूर काम कर रहे थे। इनमें ज्यादातर महिलाएं थीं। हादसे से फैक्ट्री के परखच्चे उड़ गए। प्रशासन ने देर शाम तक 22 शव बरामद कर लिए थे। जबकि 3 लोगों ने गुरुवार को इलाज के दौरान दम तोड़ दिया इस तरह से मृतकों की संख्या 25 हो गई है।

बढ़ सकती है मृतकों की संख्या
देर रात तक 22 शव मिल चुके हैं। अब भी बचाव और राहत का काम चल रहा है। मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। गंभीर रूप से घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद नागपुर रेफर किया गया है। -अमित सांघी, एसपी, बालाघाट

बिना अनुमति रखा था 100 क्लिंटल से ज्यादा बारूद
फैक्ट्री के संचालक को केवल 100 क्विंटल बारूद रखने और पटाखा बनाने की अनुमति थी। लेकिन बिना पुख्ता इंतजाम के संचालित हो रही यह फैक्ट्री इतने बड़े हादसे का कारण बन गई। फैक्ट्री का मालिक रज्जू वारिस फरार है। उसकी तलाश की जा रही है।
आगे देखें हादसे के बाद की भयावह तस्वीरें
X
किसी को भागने का मौका नहीं मिलकिसी को भागने का मौका नहीं मिल
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना